Loading...

77,000 बुजुर्गों को मुफ्त में तीर्थयात्रा करा रही है केजरीवाल सरकार, 12 जुलाई को रवाना होगा पहला जत्था

0 10

अब दिल्ली के बुजुर्ग मुफ्त में तीर्थ यात्रा का आनंद उठा सकेंगे। जी हां, दरअसल मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत दिल्ली के बुजुर्गों को यात्रा कराई जा रही है। बता दें कि पहले कॉरिडोर में दिल्ली-अमृतसर, बाघा बॉर्डर और आनंदपुर साहिब को पहली ट्रेन 12 जुलाई को जाएगी, जो 16 को वापस आएगी। यह ट्रेन सफदरजंग रेलवे स्टेशन से शाम 7 बजे जाएगी।

20 जुलाई को दूसरी ट्रेन माता कराएगी वैष्णो देवी के दर्शन

मालूम हो कि ट्रेन 16 जुलाई को दिल्ली आ जाएगी। जबकि दूसरी ट्रेन जम्मू वैष्णो देवी की 20 जुलाई को जाएगी और 24 जुलाई को वापस आएगी। बता दें कि यात्रियों को एसएमएस कर जानकारी दे दी गई है। मालूम हो कि गुरुवार को मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा पर जानेवालों से मिलेंगे।

एक ट्रिप में जा सकेंगे 1000 यात्री

Loading...

जानकारी के लिए बता दें कि एक ट्रिप में करीब 1000 यात्री शामिल हो सकेंगे। खास बात यह है कि 71 साल या इससे अधिक उम्र के लोगों को इसमें 21 साल तक के एक अटेंडेंट ले जाने की भी सुविधा होगी। बता दें कि सभी ट्रेन वातानुकूलित होंगी।

आखिर क्या है इस तीर्थ यात्रा योजना का उद्देश्य

दरअसल दिल्ली के गरीब बुजुर्गों को आसपास के तीर्थ स्थलों तक घुमाना इस तीर्थ योजना का उद्देश्य है। बता दें कि दिल्ली के 70 विधानसभा क्षेत्रों से हर साल 77,000 सीनियर सिटीजन फ्री तीर्थ यात्रा योजना का लाभ उठा सकते हैं।

मालूम हो कि शुरुआत में यह तीर्थ यात्रा डीटीसी की एसी बस में कराई जाएगी और तीर्थ यात्रा का पूरा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी। दरअसल इस यात्रा पर आने वाले खर्च के साथ बुजुर्गों के रहने, नाश्ता सहित दोपहर व रात के खाने का खर्च भी दिल्ली सरकार उठाएगी।

बता दें कि इस योजना में हर बुजुर्ग तीर्थ यात्री का 1 लाख रुपए का बीमा भी कराया जाएगा। हालांकि सरकारी अधिकारियों/कर्मचारियों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

जानिए तीर्थ यात्रा योजना के लिए क्या है योग्यता

जानकारी के लिए बता दें कि इसके लिए आवेदक का दिल्ली का स्थायी निवासी होना आवश्यक है। इसके अलावा तीर्थयात्रा योजना में लाभ उठाने के लिए उम्र 60 साल या अधिक उम्र का होना भी जरूरी है।

बता दें कि हर वरिष्ठ नागरिक के साथ 18 साल या उससे अधिक उम्र का एक सहायक तीर्थ यात्रा पर जा सकता है। हालांकि सरकारी अधिकारी और एम्पलॉई तीर्थ यात्रा योजना में भाग नहीं ले सकते। बता दें कि एक सीनियर सिटीजन अपने जीवन में एक बार ही तीर्थ यात्रा योजना का लाभ ले सकते हैं। बुजुर्ग नागरिक की सालाना आय 3 लाख रुपए से कम होनी चाहिए।

आवेदन करने की क्या है प्रक्रिया

आपको बता दें कि सभी आवेदन पत्र ऑनलाइन भरे जाएंगे। दरअसल आवेदन पत्र डिविजनल कमिश्नर ऑफिस, संबंधित विधायक के ऑफिस या तीर्थ यात्रा कमेटी के ऑफिस से भरे जाएंगे। बता दें कि लॉटरी ड्रॉ से लाभार्थियों का चयन किया जाएगा। संबंधित विधायक सर्टिफाई करेंगे कि व्यक्ति दिल्ली का नागरिक है।

इन 5 स्थानों की करायी जाएगी यात्रा

जिन 5 स्थानों पर यात्रा कराई जाएगी वे कुछ इस प्रकार हैं:

दिल्ली-मथुरा-वृंदावन-आगरा-फतेहपुर सीकरी-दिल्ली,

दिल्ली-हरिद्वार-ऋषिकेश-नीलकंठ-दिल्ली,

दिल्ली-अजमेर-पुष्कर-दिल्ली,

दिल्ली-अमृतसर-वाघा सीमा-आनंदपुर साहिब-दिल्ली

दिल्ली-वैष्णो देवी-जम्मू-दिल्ली

बता दें कि इन यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन हुआ है। दरअसल वरिष्ठ नागरिक अपनी पसंद के हिसाब से पांचों तीर्थ स्थलों में से किसी भी जगह के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.