Loading...

जायरा वसीम के एक्टिंग छोड़ने पर सपा सांसद एसटी हसन ने दिया विवादित बयान, बोले- तवायफ होती हैं नाचने-गाने वाली महिलाएं

0 19

प्रसिद्ध फ़िल्म दंगल में नजर आ चुकी जायरा वसीम के अचानक बॉलीवुड छोड़ने की घोषणा से विवाद हो गया है और हर तरफ बयानबाजी हो रही है। बता दें कि इस कड़ी में मुरादाबाद से सपा सांसद एसटी हसन ने ऐसा बयान दिया है, जिस पर अब अच्छा खासा विवाद हो सकता है। दरअसल उन्होंने जायरा वसीम के बॉलीवुड छोड़ने की वजह को सही ठहराया है और साथ ही, कहा कि नाचने-गाने वाली महिलाएं तवायफ ही होती हैं।

आखिर क्या बोले एसटी हसन

दरअसल हिंदी न्यूज चैनल एबीपी न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में एसटी हसन ने यह बयान दिया। बता दें कि हसन से जायरा वसीम के बॉलीवुड छोड़ने को लेकर सवाल पूछा गया था। उन्होंने कहा, ‘‘किसी भी धर्म में, सिर्फ इस्लाम ही नहीं, औरतों को अपने जिस्म की नुमाइश करना मना है। खासतौर पर उन पार्ट्स की नुमाइश करना जो सेक्स अपीलिंग हों, इस्लाम में हराम हैं।”

उन्होंने कहा कि, “अगर जिस्म की नुमाइश हो रही है और इस तरह के लिबास बनाए जा रहे हैं, जिससे दूसरे को सेक्स अपील हो रही हो तो मैं समझता हूं कि उन्होंने सही कदम उठाया है।”

Loading...

बोले हसन- गुनाह करके अल्लाह से दूर हो जाता है आदमी

आपको बता दें कि एसटी हसन ने कहा, ‘‘जिस्म की नुमाइश करना गुनाह है। जब आदमी गुनाह करता है तो वह अल्लाह से दूर हो जाता है। जायरा वसीम के मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, पर क्योंकि मैं एक मुस्लिम हूं तो मैं कह सकता हूं कि इस्लाम में जिस्म नुमाइश की अनुमति नहीं है, या फिर शरीर के किसी ऐसे हिस्से की नुमाइश नहीं की जा सकती, जो सेक्स अपीलिंग हो।’’

पश्चिमी देशों की तहजीब अपना रहे हैं हम

दरअसल एसटी हसन ने कहा कि अगर उन्होंने यानी कि जायरा वसीम अपने जिस्म की नुमाइश की है और ऐसी जगहों की नुमाइश की है, जिससे सेक्स अपील हो रही है तो वह गुनाह है। उन्होंने कहा कि इस्लाम की नजर में वह गुनाह है और मैं समझता हूं कि वह आपकी नजर में भी गुनाह है। हम पश्चिमी देशों की सभ्यता के पीछे दौड़ रहे हैं। अपने अपनी सभ्यता को पीछे छोड़ दिया है।

वो यही नहीं रुके और आगे बोले कि अब से 25 साल पहले हम जो चीजें अपने बच्चों के साथ स्क्रीन पर नहीं देख सकते थे, अब खुलेआम देख रहे हैं। बचपन में आपने स्क्रीन पर किसी को किस करते देखा, लेकिन अब यह आम बात हो गई है।

करी ये विवादित टिप्पणी

आपको बता दें कि जब सपा सांसद से पूछा गया कि पहले जिन अभिनेत्रियों ने स्क्रीन पर किस का सीन किया तो क्या उन्होंने गुनाह किया है? इस सवाल पर एसटी हसन ने कहा, ‘‘अगर उनको अपने जिस्म की नुमाइश करनी पड़ रही या ऐसे पार्ट्स की नुमाइश करनी पड़ रही है तो जायरा ने सही फैसला किया है। जो भी महिलाएं अंग प्रदर्शन करती हैं, नाचती-गाती हैं और लोगों का मनोरंजन करती हैं। ऐसी सभी महिलाएं तवायफ ही तो हैं।’’

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.