Loading...

शुरू करें ये बिजनेस, होगी 3.5 लाख रुपए से ज्यादा की कमाई, मोदी सरकार लोन देकर करेगी मदद

0 20

वर्ष 2019 का नया एजुकेशन सेशन शुरू हो चुका है। ऐसे में, यदि आप अपना बिजनेस शुरू करने की सोच रहे हैं तो यह अच्‍छा मौका है, जब स्‍कूल बैग बनाने की यूनिट लगा सकते हैं। दरअसल आप मई जून जुलाई के महीने में अच्‍छी खासी कमाई कर सकते हैं। इसके बाद आप अपने बिजनेस को आगे भी बढ़ा सकते हैं। अच्‍छी बात यह है कि सरकार प्रधानमंत्री मुद्रा स्‍कीम के तहत इस बिजनेस को हाथों हाथ लोन भी दे सकती है और साथ ही सरकार की तरफ से सब्सिडी भी ले सकते हैं।

बता दें कि अगर आपके पास 10 से 12 लाख रुपए हैं तो आप ये बिजनेस शुरू कर सकते हैं. हालांकि अगर आपके पास इतना पैसा नहीं है तो आप सरकारी स्‍कीम के तहत लोन लेकर भी यह काम शुरू कर सकते हैं. चलिए आपको बताते हैं इस बिज़नेस के बारे में सबकुछ..

इतने में शुरू होगा ये काम

दरअसल केंद्र सरकार के संगठन नेशनल स्‍मॉल इंडस्‍ट्रीज कॉरपोरेशन (एनएसआईसी) द्वारा तैयार की गई प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के मुताबिक, यदि आप 15 हजार बैग बनाने वाली फैक्‍ट्री लगाना चाहते हैं तो मशीनरी एवं इक्‍वीपमेंट, तीन महीने की वर्किंग कैपिटल, रॉ-मटेरियल, यूटिलिटीज और सैलरी पर लगभग 11 लाख 55 हजार रुपए के इन्‍वेस्‍टमेंट की जरूरत पड़ेगी।

Loading...

इतने स्पेस की होगी आवश्यकता

दरअसल रिपोर्ट के मुताबिक, सालाना 15 हजार बैग बनाने वाली यूनिट के लिए आपको लगभग 120 वर्ग मीटर स्‍पेस की जरूरत पड़ेगी, जिसमें कम से कम 100 वर्ग मीटर कवर्ड हो। बिजली की बात की जाए तो यहां बिजली का लोड 2 किलोवाट से लेकर 5 किलोवाट तक की जरूरत पड़ेगी, जबकि पानी के नॉमर्ल कनेक्शन से काम चल जाएगा।

70-80% लोन ले सकते हैं

आपको बता दें कि अगर आपके पास इतना पैसा नहीं है तो आपको केंद्र सरकार की विभिन्‍न योजनाओं के तहत लोन भी मिल सकता है। जी हां, बता दें कि इसके लिए आपको अलग से कोई प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट बनाने की जरूरत नहीं है। मालूम हो कि आप इसी प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट बैंक को दे कर लोन के लिए अप्‍लाई कर सकते हैं।

बता दें कि बैंक आपको 70 से 80 % लोन भी दे सकते हैं। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से चल रही मुद्रा योजना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है।

इन मशीनरी और रॉ-मटेरियल की होगी जरूरत

बता दें कि आपको मशीनरी के तौर पर एक सिंगल निडल फ्लैट बेड सिलाई मशीन, स्‍क्रीन प्रिंटिंग इक्‍वीपमेंट, टूल्‍स और रॉ-मटेरियल के तौर पर डिजाइन कपड़ा, नायलोन स्‍ट्रेप, डी-रिंग, जिप, रिवेट्स, कॉटन टेप, बकल, लॉक्‍स, धागे, एडहेसिव, पैकिंग मैटिरियल की जरूरत पड़ेगी।

इतनी होगी कमाई

अगर हर बैग का औसत मूल्‍य 100 रुपए भी रखा जाए तो 15 हजार बैग की कीमत लगभग 15 लाख रुपए हुई, जबकि आपकी इन्‍वेस्‍टमेंट 11 लाख 55 हजार रुपए है। यानी कि आप पहले साल में लगभग 3 लाख 45 हजार रुपए कमा लेते हैं, और अगले साल से आपका मशीनरी और इन्‍स्‍टॉलेशन का खर्च कम हो जाएगा यानि कि आपकी कमाई बढ़ जाएगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.