Loading...

कुपोषण से निपटने के लिए मोदी सरकार ने बनाई ये योजना, अब बच्चों को खाने के लिए मिलेंगे ये खास चावल

0 15

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से तो आप परिचत होंगे ही. वैसे अब एक बात यह भी सामने आई है कि चमकी बुखार से होने वाली मौतों के पीछे एक बड़ा कारण कुपोषण भी है. दरअसल कुपोषण से निपटने के लिए केंद्र सरकार आज से देश के 15 राज्यों में बच्चों को आंगनवाड़ी और मिड-डे मील में पौष्टिक चावल देने का ट्रायल शुरू करने जा रही है. बता दें कि पायलट स्कीम के लिए सरकार ने 147 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है.

कुपोषण से लड़ने की कर ली है तैयारी

आपको बता दें कि केंद्र सरकार कुपोषण से निपटने की तैयारी कर ली है. जी हां, दरअसल इसके लिए सरकार फोर्टिफाइड चावल मुहैया कराएगी. मालूम हो कि यह चावल मिड-डे मील और आंगनवाड़ी में दिया जाएगा. बता दें कि फोर्टिफाइड चावल में विटामिन और मिनिरल मिलाने से बनता है. दरअसल इससे चावल की कीमत 60 पैसे प्रति किलोग्राम बढ़ जाती है.

15 राज्यों में पायलट प्रोग्राम शुरू

Loading...

आपको बता दें कि सरकार ने 15 राज्यों में पायलट प्रोग्राम शुरू करने के लिए मंजूरी दे दी है. जी हां, दरअसल जिन राज्यों में ये पायलट प्रोग्राम शुरू होगा इनमें महाराष्ट्र, गुजरात, केरल, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, बिहार, उड़ीसा शामिल हैं. इन राज्यों ने प्रोग्राम शुरू करने की मंजूरी दे दी है. मालूम हो कि इस पायलट प्रोग्राम के लिए सरकार ने 147 करोड़ रुपये को मंजूरी दी है. बता दें कि मानव संसाधन और महिला विकास मंत्रालय बाकी लगात देंगे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चमकी बुखार ने बिहार में सैंकड़ों बच्चों की जान ले ली है. मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार के चलते हो रही बच्चों की मौत पर पहली बार बोले. उन्होंने कहा कि पिछले दिनों बिहार के चमकी बुखार की चर्चा हुई है.

मोदी ने कहा कि, आधुनिक युग में ऐसी स्थिति हम सभी के लिए दु:खद और शर्मिंदगी की बात है. इस दु:खद स्थिति में हम राज्य के साथ मिलकर लोगों तक हर संभव मदद पहुंचा रहे हैं. मोदी ने आगे कहा कि, ऐसी संकट की घड़ी में हमें मिलकर लोगों को बचाना होगा.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.