Loading...

महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला, दूध की खाली थैली दुकानदार को दो, बदले में पैसे पाओ

0 23

अगर आप भी उनमें से हैं जो दूध के खाली पाउच को कूड़े में डाल देते हैं तो बता दें कि आप अपना नुकसान कर रहे हैं क्योंकि अब उसके बदले आपको पैसे मिलेंगे. जी हां, दरअसल महाराष्ट्र सरकार पर्यावरण को ध्यान में रखकर इस दिशा में कदम उठा रही है.

आपको बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने राज्‍य में प्‍लास्टिक पर लगाम लगाने की नियत से फैसला लिया है कि अब लोगों को खाली दूध की थैली विक्रेता को वापिस करनी होगी. दरअसल यह फैसला प्लास्टिक थैलियों पर रोक लगाने के लिए लिया गया है. बता दें कि इसकी एवज में खाली थैली के लिए विक्रेता को प्रति थैली 50 पैसे लोगों को डिपॉजिट के तौर पर देने होंगे.

दरअसल यहां बता दें कि महाराष्ट्र में प्रतिदिन 1 करोड़ दूध की थैलियां यानी करीब 31 टन प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जाता है. बता दें कि इसमें कमी लाने के लिए प्लास्टिक पाबंदी के तहत यह फैसला लिया गया है.

मालूम हो कि इससे पहले राज्य के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने कहा था कि डेयरी कंपनियों को प्लास्टिक मिल्क पाउच को वापस जमा करने और उनकी रिसाइकलिंग के उपाए करने होंगे. इसके लिए कंपनियां इन पाउच को ग्राहकों से वापस खरीदेंगी.

Loading...

बता दें कि सरकार ने डेयरी कंपनियों को 28 मई को प्लास्टिक पाउच को वापस खरीदने की योजना तैयार करने के लिए 15 दिन का समय दिया था. हालांकि डेयरी कंपनियो को इस योजना के लिए तैयार होने में थोड़ा अधिक समय लगा दिया. बता दें कि डेयरी कंपनियों ने रिसाइकलिंग प्लांट तैयार करने के लिए भी कहा है.

दरअसल सरकार के मुताबिक, ‘अगर दूध के पाउच की कोई कीमत नहीं होगी, तो लोग पाउच वापस नहीं करेंगे. इसलिए हमने डेयरी कंपनियों ने कहा है कि वे प्रति पाउच 50 पैसे दें और उन्हें जमा करके रिसाइकल कर दें.’ उनके अनुसार डेयरी कंपनियां ऐसा करने के लिए तैयार हो गई हैं. बता दें कि आम लोगों ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.