Loading...

10 रुपए के सिक्के को लेकर RBI ने जारी किए निर्देश, अब कोई भी सिक्के लेने से नहीं कर सकता इनकार

0 33

सिक्कों के लेकर देश के बाजारों में मचे कन्फ्यूजन के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने साफ किया है कि अब कोई भी दुकानदार नहीं कर सकता सिक्का लेने से मना. जी हां, दरअसल भारतीय रिजर्व बैंक ने बुधवार को विभिन्न आकार-प्रकार और डिजाइन के सिक्कों को स्वीकार करने लेकर लोगों के बीच संदेह को दूर किया.

दरअसल RBI का कहना है कि जो भी सिक्के हैं, वे पूरी तरह से वैध मुद्रा हैं और इसलिए लोगों को बिना किसी झिझक के उसे स्वीकार करना चाहिए. बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा ढाले गए सिक्कों को आरबीआई चलन में डालता है. इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने बैंकों से यह भी कहा है कि वे सिक्के बदलने आने वाले ग्राहकों को अपनी शाखाओं से नहीं लौटाएं. आरबीआई का कहना है कि वे ग्राहकों से छोटी राशि के सिक्कों और नोट को स्वीकार करें.

समय-समय पर बदलते हैं सिक्के: RBI

आपको बता दें कि रिजर्व बैंक के मुताबिक लोगों की लेन-देन की जरूरतों को पूरा करने के लिए समय-समय पर जो भी सिक्के चलन में लाए जाते हैं, उनकी विशेषताएं अलग होती हैं. आरबीआई के अनुसार, वे विभिन्न विचारों, आर्थिक, सामाजिक और संस्कृति से प्रेरित होती हैं. आरबीआई ने कहा कि सिक्के लंबी अवधि के लिए चलन में बने रहते हैं. आरबीआई ने यह भी कहा कि अलग-अलग डिजाइन और आकार के सिक्के जारी किए जाते हैं.

Loading...

लोगों के मध्य संदेह से सिक्कों के चलन में आई रूकावट

दरअसल केंद्रीय बैंक ने यह भी कहा है कि ऐसी रिपोर्ट सामने आई है कि कुछ तबकों में ऐसे सिक्कों को लेकर संदेह है और इसके कारण कुछ व्यापारी दुकानदार और लोग सिक्के स्वीकार नहीं करते. यही कारण है कि इससे देश के कुछ हिस्सों में सिक्कों के मुक्त उपयोग और चलन बाधित हुआ है. बता दें कि रिजर्व बैंक ने लोगों से अपील की है कि वे ऐसी अफवाहों पर ध्यान नहीं दें और इन सिक्कों को बिना झिझक वैध मुद्रा के रूप में स्वीकार करें.

अभी ये सिक्के हैं चलन में

आपको बता दें कि फिलहाल विभिन्न आकार-प्रकार, डिजाइन के 50 पैसा, 1 रुपया, 2 रुपया, 5 रुपया और 10 रुपये की राशि के सिक्के चलन में हैं. जी हां, दरअसल केंद्रीय बैंक ने इसके साथ बैंकों से यह भी कहा है कि वे सिक्के बदलने आने वाले ग्राहकों को अपनी शाखाओं से नहीं लौटाएं.

मालूम हो कि नोट और सिक्कों को बदलने के बारे में आरबीआई के परिपत्र में बैंकों को सलाह दी गई है कि किसी भी बैंक शाखा को छोटी राशि के नोट या सिक्कों को लेने से मना नहीं करना चाहिए. हालांकि, आरबीआई को बैंक शाखाओं द्वारा सिक्कों को स्वीकार नहीं करने के बारे में शिकायतें मिलती रही हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.