Loading...

इन 10 कामों के लिए बेहद जरूरी होता है 10 डिजिट का PAN कार्ड, जानिए इनके बारे में

0 112

ये तो हम सब जानते हैं कि पैन कार्ड देश में हर टैक्सपेयर के पास है. लेकिन, इसका इस्तेमाल कहां-कहां किया जाता है और इसका होना हर इंसान के लिए जरूरी क्यों हैं, इसे शायद कम ही लोग जानते होंगे. दरअसल भारत में परमानेंट अकाउंट नंबर कार्ड सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज की देखरेख में आयकर विभाग बनाता है.

मालूम हो कि इस कार्ड पर छपे 10 अंक प्रत्येक इंसान के लिए यूनीक पहचान प्रमाण होते हैं. जी हां, दरअसल इसे पहचान प्रमाण पत्र के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है. इसके अलावा वेतन लेने व व्यापार करने पर भी इसका होना आवश्यक है. बता दें कि इससे सरकार पैसों की होने वाली लेन-देन पर टैक्स लगा सकती है और ये टैक्स देश के विकास के लिए बेहद आवश्यक है.

इन महत्वपूर्ण कामों के लिए जरूरी होता है पैन कार्ड

आपको बता दें कि 5 लाख रुपए या उससे ज्यादा कीमत की अचल संपत्ति के खरीदने और बेचने में पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है.

Loading...

वहीं दूसरी तरफ वाहन की बिक्री या खरीद पर भी पैन कार्ड की आवश्यकता होती है. दो पहिये या फिर दो पहिये में अलग से लगे हुए चक्के की खरीद या बिक्री पर इसकी जरूरत नहीं होती है.

बता दें कि अगर बैंक में आपके टाइम डिपॉजिट की रकम 50 हजार रुपए से अधिक हो रही है, तब इस परिस्थिति में पैन कार्ड का होना अनिवार्य है.

बता दें कि पोस्ट ऑफिस में किसी भी तरह के खाते (अकाउंट) की रकम अगर 50 हजार रुपए से अधिक जा रही है तो भी इसका होना अनिवार्य है.

इसके अलावा 1 लाख रुपए या इससे अधिक कीमत की वस्तु के खरीद या बिक्री पर जमानत के तौर पर बनाए जाने वाले कॉन्ट्रैक्ट में इसका इस्तेमाल होता है.

आपको बता दें कि किसी भी बैंक में खाता खोलने के लिए पैन कार्ड जरूरी दस्तावेज माना जाता है.

मालूम हो कि टेलीफोन कनेक्शन लगवाने के लिए आवेदन भरते समय इसका होना अनिवार्य है. बता दें कि सेलुलर कनेक्शन के लिए भी यह जरूरी होता है.

आपको बता दें कि अगर होटल में आपका एक दिन का खर्च 25 हजार रुपए से अधिक हो रहा है तो पैन कार्ड की जरुरत पड़ती है.

वहीं अगर एक दिन में अगर आपको 50 हजार रुपए से अधिक का बैंक ड्राफ्ट, भुगतान ऑर्डर या बैंकर चेक नकद में खरीदना है तो अपको पैन कार्ड दिखाना आवश्यक है.

इसके अलावा विदेश की यात्रा करने के लिए अगर आप 25 हजार रुपए या उससे अधिक की कीमत का टिकट नकद में खरीद रहे हैं, उस समय भी आपको पैन कार्ड दिखाना पड़ेगा.

10 डिजिट का होता है एक खास नंबर

आपको बता दें कि पैन कार्ड नंबर एक 10 डिजिट का खास नंबर होता है, जो लेमिनेटेड कार्ड के रूप में आता है. जी हां, दरअसल इसे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट वाले उन लोगों को इश्यू करते हैं, जो पैन कार्ड के लिए अर्जी देते हैं. बता दें कि पैन कार्ड बन जाने के बाद उस व्यक्ति के सारे फाइनेंशियल ट्रान्जैक्शन डिपार्टमेंट के पैन कार्ड से लिंक हो जाते हैं. जी हां, दरअसल इनमें टैक्स पेमेंट, क्रेडिट कार्ड जैसे कई फाइनेंशियल लेन-देन डिपार्टमेंट की निगरानी में रहते हैं.

मालूम हो कि इस नंबर के पहले 3 डिजिट अंग्रेजी के लेटर्स होते हैं. जी हां, दरअसल यह AAA से लेकर ZZZ तक कोई भी लेटर हो सकता है. ताजा चल रही सीरीज के हिसाब से यह तय किया जाता है. बता दें कि यह नंबर डिपार्टमेंट अपने हिसाब से तय करता है.

वहीं पैन कार्ड नंबर का चौथा डिजिट भी अंग्रेजी का ही एक लेटर होता है. दरअसल यह पैन कार्डधारी का स्टेटस बताता है. इसमें-

P- एकल व्यक्ति
F- फर्म
C- कंपनी
A- AOP (असोसिएशन ऑफ पर्सन)
T- ट्रस्ट
H- HUF (हिन्दू अनडिवाइडिड फैमिली)
B- BOI (बॉडी ऑफ इंडिविजुअल)
L- लोकल
J- आर्टिफिशियल जुडिशियल पर्सन
G- गवर्नमेंट के लिए होता है

5वां डिजिट

आपको बता दें कि पैन कार्ड नंबर का 5वां डिजिट भी ऐसा ही एक अंग्रेजी का लेटर होता है. जी हां, दरअसल यह लेटर पैन कार्डधारक के सरनेम का पहला अक्षर होता है. दरअसल यह सिर्फ धारक पर निर्भर करता है. ध्यान रखें कि इसमें सिर्फ धारक का लास्ट नेम ही देखा जाता है.

बता दें कि इसके बाद पैन कार्ड में 4 नंबर होते हैं. जी हां, दरअसल यह नंबर 0001 से लेकर 9999 तक, कोई भी हो सकते हैं. मालूम हो कि आपके पैन कार्ड के ये नंबर उस सीरीज को दर्शाते हैं, जो मौजूदा समय में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में चल रही होती है. जी हां, दरअसल इसका आखिरी डिजिट एक अल्फाबेट चेक डिजिट होता है, जो कोई भी लेटर हो सकता है.

इन परिस्थितियों में भी पैन कार्ड है आवश्यक

बता दें कि दो पहिया के अलावा किसी अन्य वाहन की खरीद-बिक्री में पैन कार्ड जरूरी है

अगर किसी होटल या रेस्तरां में एक बार में 25 हजार रुपए से अधिक की पेमेंट करी तो

शेयरों की खरीदारी के संबंध में किसी कंपनी को 50 हजार रुपए या इससे अधिक की अदायगी

बता दें कि बुलियन या ज्वलैरी की खरीदारी के लिए 5 लाख रुपए से अधिक की अदायगी में पैन कार्ड है आवश्यक

5 लाख रुपए या इससे अधिक कीमत की अचल संपत्ति की खरीद-बिक्री पर पैन है जरूरी

बैंक में 50 हजार रुपए से अधिक जमा के संबंध में पैन है आवश्यक

विदेश यात्रा के संबंध में 25 हजार रुपए से अधिक की अदायगी पर पैन होगा जरूरी

बॉन्ड खरीदने के लिए आरबीआई को 50 हजार रुपए या इससे अधिक की अदायगी

बता दें कि बॉन्ड या डिबेंचर खरीदने के लिए किसी कंपनी या संस्था को 50 हजार रुपए या इससे अधिक की अदायगी के मामले में पैन है आवश्यक

म्यूचुअल फंड की खरीदारी के संबंध में पैन है आवश्यक

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.