Loading...

अगर आप भी Swiggy, Zomato से ऑनलाइन ऑर्डर करते हैं, तो बढ़ने वाला है आपकी जेब का भार

0 12

अगर आप भी उनमें से हैं ऑनलाइन कंपनियों से भोजन ऑर्डर करते हैं तो ये खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है. जी हां, दरअसल ऑनलाइन फूड एग्रीगेटर्स Swiggy, Zomato जैसी कंपनियों से भोजन मंगाने वालों को अपनी जेब थोड़ी ज्यादा ढीली करनी पड़ सकती है.

जी हां, दरअसल ऐसा इसलिए क्योंकि ऑनलाइन फूड एग्रीगेटर्स ने कई प्रोडक्ट्स पर रेस्टोरेंट्स के दाम के मुकाबले 5 रुपये से लेकर 50 रुपये या उससे अधिक बढ़ा दिए हैं.

कंपनियां बढ़ा रही हैं ओरिजनल प्राइस

आपको बता दें कि ऑनलाइन फूड एग्रीगेटर्स अपने कोष की भरपाई करने के लिए देश भर के आउटलेट्स से खाद्य पदार्थों के ओरिजनल प्राइस बढ़ा रहे हैं. दरअसल कोई आइटम आउटलेट के आधार पर 5 रुपये से लेकर 50 रुपये या उससे अधिक महंगा हो सकता है.

Loading...

यहां सबसे दिलचस्प बात यह है कि ज्यादातर मामलों में ग्राहकों को यह पता भी नहीं है कि वे इस आइटम का प्रीमियम भुगतान कर रहे हैं, जिसका उन्होंने ऑर्डर किया है.

दरअसल अगर हम थोड़ा गूगल चेक करें तो हम ये पाएंगे जोमैटो में दी गई कीमत और उस होटल के मेन्यू में दी गई कीमत में अंतर है. लेकिन जब ग्राहक वेबसाइट के ऑर्डर ऑनलाइन टैग पर क्लिक करता है, तो कीमतें अपने आप बढ़ जाती है.

हालांकि रेस्टोरेंट के मालिक डिलिवरी कंपनियों को कुछ कमीशन देते हैं जिसकी वजह से दाम में 15-35 % के बीच अंतर बढ़ जाता है. जबकि ज्यादातर बडे ब्रांड के रेस्टोरेंट्स ने एग्रीगेटरों को ऑनलाइन ग्राहकों के लिए अपने मेन्यू को बढ़ाने का अधिकार दिया है.

दरअसल यही कारण है कि एक बार रेस्टोरेंट्स के मालिक प्राइस बढ़ाने की मंजूरी मिलने पर स्विगी और जोमैटो जैसी कंपनियों को दाम बढ़ाना आसान हो जाता है. दरअसल यह सब चल रही है प्रक्रिया का हिस्सा है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.