Loading...

राहुल गांधी ने कांग्रेस के 51 सांसदों की नहीं मानी अपील, कहा- अब नहीं रहूंगा अध्यक्ष

0 10

बुधवार के दिन सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस के लोकसभा सांसदों की बैठक हुई जिसमें कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी भी उपस्थित थे। बैठक में मौजूद 51 सांसद राहुल गांधी को इस्तीफा वापस लेने को लेकर नहीं मना सके। राहुल गांधी अपनी पार्टी के सांसदों से कह चुके हैं कि वह कांग्रेस के अध्यक्ष नहीं रहेंगे।

कांग्रेसी सांसद शशि थरूर एवं मनीष तिवारी ने राहुल गांधी से कहा कि हार सिर्फ आप की अकेली की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि यह सामूहिक जिम्मेदारी है। लेकिन राहुल गांधी नैतिक जिम्मेदारी मानते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की जिद पर अड़े हुए हैं। बैठक में 51 सांसदों ने राहुल गांधी को ऐसा ना करने की अपील की।

कांग्रेस के 52 सांसद ही लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज कर सके। बैठक में राहुल गांधी सहित सभी 51 सांसद उपस्थित थे।

बता दे कि लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की बात पर अड़े हुए हैं। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में राहुल गांधी ने यह बात कही। हालांकि कार्यसमिति ने इस सिरे से खारिज कर दिया। हाल ही में हुई बैठक में भी राहुल गांधी अपनी जिद पर अड़े रहे। कार्यसमिति के सदस्यों ने राहुल गांधी को बताया कि इस वक्त पार्टी को आपके मार्गदर्शन की बहुत ही आवश्यकता है। इसीलिए आपको पार्टी का अध्यक्ष बने रहना होगा।

Loading...

राहुल ने बैठक में बताया कि मैं अध्यक्ष पद से इस्तीफा दूंगा। मेरी बहन प्रियंका का नाम मेरी जगह प्रस्तावित ना किया जाए। कोई गैर कांग्रेसी इस पार्टी का अध्यक्ष बने। हालांकि कार्यसमिति ने राहुल गांधी की बात को मानने से इंकार कर दिया। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि हमने राहुल गांधी को यह अधिकार दे दिया है कि वह अपने मन मुताबिक संगठनात्मक बदलाव कर सकते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.