Loading...

1 जुलाई से इन 6 जरूरी चीजों में होने जा रहा है बदलाव, जानिए क्या होगा इसका आप असर

0 100

आगामी 1 जुलाई खास है क्योंकि इस दिन से आपकी जिंदगी में कई बड़े बदलाव होने वाले हैं, जिनका आपकी जेब और जिंदगी पर सीधा असर होगा. जी हां, दरअसल ये बदलाव बैंक, रसोई गैस और रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़े हुए हैं. मालूम हो कि RBI की ओर ऑनलाइन पैसों के लेनदेन से जुड़ा नया नियम लागू हो जाएगा. वहीं, रसोई गैस की कीमतें तय होंगी.

इतना ही नहीं, इसके साथ ही छोटी बचत योजनाओं की नई दरें लागू होंगी. दरअसल ऐसा माना जा रहा है कि ब्याज दरें घट सकती हैं. ऐसे में आपके जमा पर मुनाफा घट जाएगा. चलिए जानते हैं ऐसी 6 चीजें, जो आगामी 1 जुलाई से बदलने जा रही हैं..

(1) RTGS & NEFT चार्ज होगा समाप्त

आपको बता दें कि डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने आरटीजीएस और एनईएफटी चार्ज खत्म कर दिए हैं. जी हां, दरअसल RBI ने पैसा ट्रांसफर करने का शुल्क 1 जुलाई से समाप्त करने की घोषणा की है.

Loading...

मालूम हो कि केंद्रीय बैंक ने सभी बैंकों से कहा है कि वह लाभ उसी दिन से अपने ग्राहकों को दें. दरअसल आरटीजीएस (RTGS) से बड़ी राशियों को एक खाते से दूसरे खाते में तत्काल ट्रांसफर करने की सुविधा है. इसी तरह एनईएफटी के जरिये 2 लाख रुपये तक तत्काल ट्रांसफर किए जा सकते हैं.

दरअसल देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक एनईएफटी के जरिये मनी ट्रांसफर के लिए 1 रुपये से 5 रुपये का चार्ज लेता है. वहीं, आरटीजीएस के जरिए पैसा ट्रांसफर करने के लिए 5 से 50 रुपये का चार्ज लेता है. लेकिन अब ऐसा कोई चार्ज नहीं लगेगा.

(2) महंगा हो सकता है रसोई गैस सिलेंडर

बता दें कि हर महीने की तरह 1 जुलाई से रसोई गैस सिलेंडर की नई कीमतें जारी होंंगी. जी हां, यहां, आपको याद दिला दें कि इससे पहले 1 जून को रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी हुई थी.

(3) बचत खातों में न्यूनतम राशि रखने की बाध्यता होगी समाप्त

मालूम हो कि रिजर्व बैंक (RBI) ने बेसिक सेविंग अकाउंट के मामले में नियमों को आसान कर दिया है. जी हां, दरअसल ऐसे खाताधारकों को चेक बुक और अन्य सुविधाएं उपलब्ध करायी जा सकेंगी. हालांकि ये बात आपको साफ कर दें कि बैंक इन सुविधाओं के लिये खाताधारकों को कोई न्यूनतम राशि रखने के लिये नहीं कह सकते. दरअसल ये नए नियम 1 जुलाई से लागू होंगे.

आपको बता दें कि प्राथमिक बचत बैंक जमा खाता (बीएसबीडी) से आशय ऐसे खातों से है, जिसे शून्य राशि से खोला जा सकता है. दरअसल इसमें कोई न्यूनतम राशि रखने की जरूरत नहीं है. बता दें कि इससे पहले नियमित बचत खाते जैसे खातों को ही अतिरिक्त सुविधा मिलती थी. अत: इन खातों में न्यूनतम राशि रखने की जरूरत होती है और अन्य शुल्क भी देने होते हैं.

(4) 1 जुलाई से बचत योजनाएं देंगी झटका

जानकारी के लिए बता दें कि अगर आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), सुकन्या योजना या फिर नेशनल सेविंग स्‍कीम (NSC) के तहत निवेश करते हैं तो आपको जुलाई से बड़ा झटका लग सकता है. जी हां, दरअसल, मोदी सरकार स्मॉल सेविंग्स स्कीम पर ब्‍याज दर में कटौती करने की तैयारी में है. सरकार जल्‍द ही इसको लेकर नोटिफिकेशन जारी कर सकती है.

(5) 1 जुलाई से बदल जाएगा SBI का नियम, 42 करोड़ ग्राहकों पर पड़ेगा असर

अगर आप एसबीआईके ग्राहक हैं तो बता दें कि आगामी 1 जुलाई से एसबीआई की सर्विसेज में एक खास बदलाव आएगा. जी हां, दरअसल बैंक की ओर से कहा गया है कि आने वाली 1 जुलाई से रेपो रेट से जुड़े होम लोन ऑफर किए जाएंगे.

दरअसल इसका मतलब यह हुआ कि अगले महीने से एसबीआई की होम लोन की ब्याज दर पूरी तरह रेपो रेट पर आधारित हो जाएगी. साधारण भाषा में बताएं तो रिजर्व बैंक जब-जब रेपो रेट में बदलाव करेगा उसी आधार पर एसबीआई की होम लोन की ब्‍याज दर भी तय होगी.

(6) 1 जुलाई से 36,000 तक महंगी हो जाएंगी महिंद्रा कारें, ये है वजह

आपको बता दें कि ऑटोमोबाइल कंपनी महिंद्रा ऐंड महिंद्रा (M&M) ने अपने पेसेंजर वीइकल्स की कीमत में 36,000 रुपये तक का इजाफा करने का फैसला किया है. जी हां, दरअसल महिंद्रा के वाहनों पर 1 जुलाई से नई कीमत लागू होगी. मालूम हो कि कंपनी के इस फैसले के बाद महिंद्रा स्कॉर्पियो, बोलेरो, एक्सयूवी500 जैसी कार महंगी हो जाएंगी.

दरअसल महिंद्रा ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा है कि भारत में सभी यात्री वाहनों में 145 सुरक्षा मानदंड लागू होने से यह वृद्धि की जा रही है. बता दें कि कंपनी के मुताबिक वह स्कॉर्पियो, बोलेरो, टीयूवी 300 और केयूवी 100 नेक्सट की कीमतों में थोड़ा ज्यादा और एक्सयूवी 500 तथा माराजो के दामों में मामूली वृद्धि की जाएगी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.