Loading...

समय के साथ-साथ कुछ ऐसे बदलती चली गई टीम इंडिया की जर्सी, देखें तस्वीरें

0 5

30 जून को भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले मैच में भारतीय टीम ऑरेंज जर्सी पहनकर उतरेगी। भारतीय टीम सिर्फ एक मैच में ही ऑरेंज रंग की जर्सी में खेलने उतरेगी। भारतीय टीम लंबे समय से ही नीली रंग की जर्सी में खेलती आ रही है। पहली बार ऑस्ट्रेलिया ने 1985 में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रंगीन जर्सी का प्रयोग किया था। विश्व चैंपियनशिप 1985 में भारतीय टीम हल्के नीले और येलो रंग की जर्सी में उतरी थी जिस पर ना तो किसी स्पॉन्सर्स , लोगो या खिलाड़ी का नाम नहीं था। 1991-92 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेली गई सीरीज में भारतीय टीम की जर्सी में बदलाव हुआ। टीम की जर्सी पर खिलाड़ियों के नाम लिखे गए।

विश्व कप 1992 में भारतीय टीम नेवी ब्लू रंग की जर्सी में खेलने उतरी। कंधे पर हल्के नीले, हरे, लाल और सफेद रंग की पट्टी थी।

विश्व कप 1996 में भारत की जर्सी का रंग पीला होने के साथ-साथ हल्का नीला था। जर्सी के कॉलर का रंग पीला था।

Loading...

विश्व कप 1999 में भारतीय टीम की जर्सी का कॉलर पीले रंग का एवं जर्सी के सामने पीले रंग की विकर्ण का पैटर्न बना हुआ था।

विश्व कप 2003 में भारतीय टीम की जर्सी का रंग गहरा नीला था। इस पर सामने की ओर तिरंगा बना हुआ था और जर्सी के दोनों तरफ काले रंग की पट्टी बनी हुई थी।

विश्व कप 2007 में भारतीय टीम की जर्सी का रंग हल्का नीला हो गया जिसके राइट साइड पर तिरंगा था और काली पट्टियां भी गायब हो गई।

विश्व कप 2011 में भारतीय टीम हल्के नीले रंग की जर्सी में उतरी जिसके दोनों तरफ तिरंगे की पट्टी थी और कोलर पर ऑरेंज पैच दिया गया था।

विश्व कप 2019 में भारतीय टीम की जर्सी का रंग नीला था जिस पर तिरंगे की पट्टियां नहीं थी। इस बार टीम की जर्सी पर स्पॉन्सर और टीम का नाम लिखा गया।

विश्व कप 2019 में भारतीय टीम की जर्सी का रंग हल्के और गहरे 2 शेड में है दोनों तरफ ऑरेंज पट्टियां बनी हुई है और कॉलर का रंग भी ऑरेंज है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.