Loading...

1 अक्टूबर से हाईटेक हो जाएगा आपका ड्राइविंग लाइसेंस, माइक्रो चिप एवं क्यूआर कोड इसे बनाएंगे स्मार्ट

0 19

आजकल टेक्नोलॉजी का जमाना है और हर चीज हाईटेक हो रही है तो फिर ऐसे में सरकारी तंत्र और उसके द्वारा दी जाने वाली सर्विस का भी हाईटेक होना आवश्यक है। जी हां, दरअसल केंद्र की मोदी सरकार सड़कों पर गाड़ी और ड्राइवर की पहचान को आसान बनाने के लिए लगातार कार्य कर रही है।

इसके लिए पूरे देश में एक समान ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (यानी कि आरसी) का नियम बनाया गया है। जी हां, दरअसल यह नया नियम 1 अक्टूबर 2019 से पूरे देश में लागू हो जाएगा। यानी 1 अक्टूबर 2019 के बाद पूरे देश में जारी होने वाले ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी एकसमान होंगे। दरअसल यह जानकारी स्वयं सड़क परिवहन एवं राममार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को संसद में दी।

अब स्मार्ट होगा आपका ड्राइविंग लाइसेंस

आपको बता दें कि नितिन गडकरी की ओर से राज्यसभा में दी गई जानकारी के अनुसार नया ड्राइविंग लाइसेंस बिना चिप वाला लेमिनेटिड कार्य या फिर स्मार्ट कार्ड के रूप में जारी किया जाएगा। जी हां, दरअसल इन स्मार्ट ड्राइविंग ड्राइविंग लाइसेंस में माइक्रोचिप और क्यूआर कोड होंगे, जिसमें आपकी यातायात नियमों के उल्लंघन संबधी सभी जानकारियां होंगी।

Loading...

पूरे देश में एक समान होगा फॉर्मेट

मालूम हो कि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार 1 अक्टूबर 2019 से पूरे देश में एक ही फॉर्मेट में ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी जारी की जाएंगी। दरअसल इसमें सामने की ओर चिप और पीछे की ओर क्यूआर कोड होगा।

बता दें कि इस चिप और बार कोड में लाइसेंस होल्डर और वाहन की समस्त जानकारी होगी। जी हां, दरअसल क्यूआर कोड की मदद से केंद्रीय ऑनलाइन डेटाबेस से ड्राइवर या वाहन का पूरा रिकॉर्ड एक डिवाइस के जरिए पढ़ा जा सकेगा।

फॉन्ट और रंग भी होगा एकसमान

आपको बता दें कि नोटिफिकेशन के अनुसार, इस साल यानी कि 1 अक्टूबर 2019 से जारी होने वाले ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी का रंग भी एक समान होगा। जी हां, दरअसल नोटिफिकेशन में ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी पर दर्ज की जाने वाली जानकारी के फॉन्ट भी तय कर दिए गए हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.