Loading...

बेहद आसान है ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक कराना, जानिए क्या है तरीका

0 21

ये तो आपको पता ही होगा कि संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट बिल पहले ही लोकसभा में पास हो चुका है, वहीं जल्द ही इसे राज्यसभा में भी पेश किया जा सकता है, जिसके पश्चात यह कानून का रूप ले लेगा। आपको बता दें कि इस एक्ट की सबसे बड़ी खास बात यह है कि इसमें रजिस्ट्रेशन और ड्राइविंग लाइसेंस में आधार कार्ड को लिंक करना जरूरी होगा। ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कि अपने आधार कार्ड को किस तरह से ड्राइविंग लाइसेंस से लिंक किया जाए। चलिए जानते हैं..

आधार नागरिकता का सबूत नहीं

मालूम हो कि आधार कार्ड नागरिक होने का सबूत तो नहीं है, लेकिन आपकी पहचान और पते का पुख्ता सबूत है। जी हां, दरअसल देश में रहने वाला कोई भी व्यक्ति आधार के लिए अप्लाई कर सकता है। इतना ही नहीं, यहां तक कि नवजात शिशु का भी आधार कार्ड बनवाया जा सकता है। बता दें कि अपने नजदीकी एनरोलमेंट सेंटर पर जाकर आधार कार्ड बनवाने के लिए आवेदन किया जा सकता है।

सरकारी योजनाओं के लिए आधार है आवश्यक

Loading...

बता दें कि अगर आप सरकारी योजनाओं का लाभ उठाना चाहते हैं, तो इसके लिए आधार नंबर होना जरूरी है। जी हां, दरअसल सरकार की योजनाएं सभी व्यक्ति तक पहुंचें इसके लिए सरकार ने आधार को कई योजनाओं से जोड़ा है।

बता दें कि इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए आधार कार्ड जरूरी कर दिया गया है। वहीं अब सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। हालांकि अभी के मौजूदा मोटर व्हीकल नियमों में ड्राइविंग लाइसेंस में आधार जोड़ना जरूरी नहीं है, लेकिन जब भी नए संशोधन नियम लागू होंगे, उनमें यह अनिवार्य हो सकता है।

जानिए क्या हैं स्टेप्स

बता दें कि अगर आप अपने ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करना चाहते हैं, तो आपको निम्न स्टेप्स फॉलो करने होंगे।

दरअसल इसके लिए सर्वप्रथम आपको अपने केन्द्र शासित प्रदेश या राज्य सरकार की सड़क परिवहन विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा।

या फिर आप https://sarathi.parivahan.gov.in की वेबसाइट पर भी जा सकते हैं।

वहां जाने के बाद आपको ड्राप डाउन मैन्यू में ड्राइविंग लाइसेंस पर जाना होगा।

जिसके बाद आप Apply Online पर क्लिक कर सकते हैं।

इसके बाद Services on Driving Licence (Renewal/Duplicate/Aedl/Others) मैन्यू पर क्लिक करना होगा।

फिर एक एक्सटर्नल विंडो खुल जाएगी, जो https://sarathi.parivahan.gov.in/sarathiservicecov2/dlServicesDet.do पर ले जाएगी।

वहीं जाने के बाद आपको Continue ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

इस पर जाने के बाद आपको अपना ड्राइविंग लाइसेंस नंबर और डेट ऑफ बर्थ की डिटेल्स डालनी होंगी।

मालूम हो कि इसी मैन्यू में नीचे की तरफ अपना स्टेट और आरटीओ का विकल्प चुनना होगा और Proceed बटन दबाना होगा।

बता दें कि यहां आपको अपने ड्राइविंग लाइसेंस के डीटेल्स दिख जाएंगे। अब नीचे की तरफ जाकर अंकों का आधार नंबर और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर यहां डालें। ध्यान रखें कि वही मोबाइल नंबर डालें, जो आपने आधार के साथ लिंक करवाया है।

इसके पश्चात अब Submit पर क्लिक करें, आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा, जिसे आपको डालना होगा और कनफर्म करना होगा। इसके बाद ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर पर कन्फर्मेशन मैसेज आएगा।

क्या हैं डीएल के आधार लिंक कराने के फायदे

जानकारी के लिए बता दें कि ड्राइविंग लाइसेस को आधार से लिंक करने के कई फायदे हैं। जी हां, दरअसल इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि गैर कानूनी लाइसेंस पर पूर्णतयः रोक लगेगी। दरअसल कई लोग एक से ज्यादा ड्राइविंग लाइसेंस रखते हैं जबकि कानून के मुताबिक एक व्यक्ति केवल एक ही लाइसेंस रख सकता है।

इसके अलावा नियम लागू होने के बाद सरकार एक अवधि तय करेगी, जिसके अंदर ही लाइसेंस को आधार से लिंक करना होगा। अगर तय अवधि में लाइलेंस को आधार से लिंक नहीं करते हैं, तो लाइसेंस ऑटोमैटिकली ब्लॉक हो जाएगा।

एक और फायदा इससे यह होगा की इसकी मदद से फेक ड्राइविंग लाइसेंस रखने का वालों का बेहद आसानी से पता लगाया जा सकेगा। किसी हादसे या वाहन चोरी होने की स्थिति में भी लाइसेंस होल्डर का पता लगाया जा सकेगा।

क्या ड्राइविंग लाइसेंस से आधार लिंक करना जरूरी है

कई बार ये सवाल भी आ चुका है कि क्या फिलहाल ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक करना जरूरी है। बता दें कि इसका जवाब यह है कि फिलहाल तो यह स्वैच्छिक है, लेकिन राज्यसभा में संशोधित मोटर बिल जब कानून बन जाएगा तब सरकार ड्राइविंग लाइसेंस से आधार को लिंक करना अनिवार्य बना सकती है। हालांकि इसके लिए सरकार 6 महीने तक का वक्त दे सकती है।

आधार कार्ड में बदल सकते हैं निजी जानकारियां

मालूम हो कि आप आधार कार्ड में निजी जानकारियां भी आसानी से बदल सकते हैं। जी हां, दरअसल UIDAI ने इस प्रक्रिया को बेहद आसान बना दिया है। बता दें कि इसके लिए आपको UIDAI की वेबसाइट पर जाकर जरूरी डॉक्यूमेंट्स उपलब्ध कराने होंगे और आपके रजिस्टर्ड नंबर पर एक ओटीपी आएगा।

इसके अलावा कुछ बदलावों के लिए फीस भी चुकानी पड़ेगी। बता दें कि अपडेट होने के बाद आपके रजिस्टर्ड अड्रेस पर नया आधार कार्ड डिलीवर हो जाएगा, इसके लिए आपको एसएमएस या ईमेल से भी सूचित किया जाएगा।

एक बार में कितने अपडेट कर सकते हैं

बता दें कि इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आधार में अपडेट करने की एक समय सीमा है। जी हां, दरअसल एक बार में आप केवल 4 ही अपडेट कर सकते हैं। दरअसल अगर आपने 4 से ज्यादा अपडेट करने की कोशिश की, तो आपकी रिक्वेस्ट ऑटोमैटिकली रिजेक्ट हो जाएगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.