Loading...

आपका Aadhaar आपको दिला सकता है 30 हजार रुपए, बस करना होगा ये काम

0 28

अगर आपको 30 हजार रुपए चाहिए तो बता दें कि देश में आधार कार्ड का प्रबंधन करने वाली संस्था UIDAI आम लोगों को 30,000 रुपये जीतने का मौका दे रही है. जी हां, दरअसल इसके लिए आपको किसी भी आधार ऑनलाइन सर्विस का इस्तेमाल करना है और इसका एक वीडियो बनाकर यूआईडीएआई को भेजना है.

मालूम हो कि इस प्रतियोगिता के तहत कुल 48 कैश प्राइज दिए जाएं, जिसमें सबसे बड़ा पुरस्कार 30,000 रुपये का है. बता दें कि इन वीडियो को 15 श्रेणियों में भेजा जा सकता है, प्रत्येक श्रेणी में पहला पुरस्कार 20,000 रुपये, दूसरा पुरस्कार 10,000 रुपये और तीसरा पुरस्कार 5,000 रुपये का है.

इतना ही नहीं, इसके अलावा 3 श्रेणियों को मिलाकर 30,000 रुपये का प्रथम पुरस्कार दिया जाएगा. द्वितीय पुरस्कार 20,000 रुपये का और तृतीय पुरस्कार 10,000 रुपये का होगा. बता दें कि प्रतिभागी एक से अधिक श्रेणी में वीडियो भेज सकते हैं.

आपको बता दें कि यह प्रतियोगिता 18 जून से शुरू है और 8 जुलाई तक चलेगी. यानी इसका मतलब यह है कि इस बीच आप किसी भी सेवा के लिए आधार का इस्तेमाल उसके अनुभव पर आधारित एक वीडियो यूआईडीएआई को भेज सकते हैं.

Loading...

मालूम हो कि इस प्रतियोगिता में सिर्फ वे भारतीय नागरिक ही भाग ले सकते हैं, जिनके पास आधार कार्ड है. बता दें कि वीडियो 30 सेकेंड से 2 मिनट के बीच होना चाहिए. इस वीडियो का मकसद दूसरे लोगों को भी उस सेवा का उपयोग करने में मदद करना है.

भाषा की जहां तक बात है तो ये वीडियो हिंदी या अंग्रेजी में बनाकर भेजना है. इसके अलावा एक बात का विशेष ध्यान रखें कि प्रतियोगिता में दिया जाने वाला विडियो आपका ऑरिजनल वीडियो होना चाहिए.

जानकारी के लिए बता दें कि आपको ये वीडियो यूट्यूब, गूगल ड्राइव या किसी अन्य विडियो शेयरिंग प्लैटफॉर्म पर अपलोड कर उसका लिंक UIDAI के ईमेल के जरिए भेजना है.

जी हां, ईमेल का पता media.division@uidai.net.in है. मालूम हो कि ये वीडियो mp4, avi, flv, wmv, mpeg या mov फार्मेट में होना चाहिए. हाई रेजॉलूशन और फुलएचडी वीडियो को इस कॉन्टेस्ट में प्राथमिकता दी जाएगी और उनके जीतने की संभावना भी ज्यादा रहेगी.

इसलिए ऐसे में यही कोशिश करें कि जिस वीडियो को आप अपलोड कर रहे हों वह कम से कम 1080 पिक्सल रेजॉलूशन का होना चाहिए.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.