Loading...

इन चीजों पर नहीं लगता है एक रुपए का भी जीएसटी, एक बार जरूर चेक कर लें लिस्ट

0 48

आज यानि 21 जून को गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानि GST काउंसिल की 35वीं बैठक है. उम्मीद है इसमें कई सारी वस्तुओं पर जीएसटी की दरें घटा दी जाएं।

लेकिन देश में ऐसे कई सामान है जिन पर एक भी रुपये का जीएसटी नहीं चुकाना होता है. संगीत से जुड़ी किताबें और फ्रोजन सब्जियों को जीरो फीसदी टैक्स ब्रैकेट्स में है. वहीं, जीएसटी में फिलहाल 4 टैक्स स्लैब हैं. 5% जीएसटी रेट स्लैब, 12% जीएसटी रेट स्लैब, 18% जीएसटी रेट स्लैब और 28% जीएसटी रेट स्लैब हैं.

दरअसल आज हम आपको बता हैं जीरो टैक्स स्लैब में किन चीजों को रखा गया है. चलिए जानते हैं इनके बारे में..

Loading...

दूध, दही, पनीर

डेलीलाइफ में इस्तेमाल में आने वाली कई चीज़ों को इस बार जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है। जी हां, आपको बता दें कि जो चीजें जीएसटी के दायरे से बाहर हैं, उनमें बटर मिल्क, सब्जियां, फल, ब्रेड, अनपैक्‍ड फूडग्रेन्‍स, गुड़, दूध, अंडा, दही, लस्‍सी शामिल है.

इसके अलावा अनपैक्‍ड पनीर, अनब्रांडेड आटा, अनब्रांडेड मैदा, अनब्रांडेड बेसन, प्रसाद, काजल, फूलभरी झाड़ू और नमक भी इनमें शामिल हैं. वहीं फ्रेश मीट, फिश, चिकन पर भी जीएसटी नहीं है.

न्यूज पेपर एवं बच्चों के काम की चीजें

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बच्‍चों के ड्राइंग और कलरिंग बुक्‍स और एजुकेशन सर्विसेज पर भी जीएसटी नहीं रखा गया है.

इतना ही नहीं मिट्टी की मूर्तियों, न्यूज पेपर, खादी स्टोर से खादी के कपड़ें खरीदने पर कोई टैक्स नहीं है.

हेल्‍थ सर्विसेज

मोदी सरकार ने हेल्‍थ सर्विसेज को लोगो की परम आवश्यकता समझते हुए इनको भी 0 % जीएसटी के दायरे में रखा है.

कौन से अन्य प्रोडक्ट्स हैं 0% दायरे में

अन्य प्रोडक्ट्स की बात करें तो सैनेटरी नैपकिन, स्टोन, मार्बल, राखी, साल के पत्ते, लकड़ी से बनी मूर्तियां और हैंडीक्राफ्ट आइटम्स पर भी 0% जीएसटी है.

इनके अलावा 31वीं बैठक में लिए गए फ्रोजन सब्ज़ियों और संगीत से जुड़ी किताबो को 0% जीएसटी के दायरे में शामिल किया गया है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.