Loading...

BCCI ने अस्वीकार किया ACB का निवेदन, भारत में नहीं होगा अफगानिस्तान प्रीमियर लीग का आयोजन

0 16

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने बीसीसीआई से भारत में अफ़गानिस्तान प्रीमीयर लीग करने का निवेदन किया था जिसे बीसीसीआई ने अस्वीकार कर दिया। हालांकि बीसीसीआई ने अफगानिस्तान क्रिकेट को बढ़ावा देने में काफी महत्वपूर्ण योगदान दिया। ऐसे बहुत ही कम मौके आए हैं जब अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के किसी निवेदन को स्वीकार नहीं किया गया।

बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया के एक अधिकारी ने मंगलवार के दिन पीटीआई को बताया कि अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भारत में T-20 लीग कराने का निवेदन किया था। लेकिन हमने आईपीएल की वजह से इस निवेदन को अस्वीकार कर दिया।

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों ने 16 मई को मुंबई में बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी और महाप्रबंधक सबा करीम से हुई मुलाकात में यह मुद्दा उठाया था। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के मुख्य अधिकारी असदुल्ला खान ने देहरादून और ग्रेटर नोएडा के अतिरिक्त भारत में तीसरे घरेलू मैदान की मांग की थी। इस पर भारतीय क्रिकेट बोर्ड को कोई भी आपत्ति नहीं हुई। बताया जा रहा है कि लखनऊ तीसरा घरेलू मैदान हो सकता है।

असदुल्ला खान ने कहा कि देहरादून में पांच सितारा होटल ना होने की वजह से टीमों की मेजबानी करना बहुत बड़ी समस्या है। हम चाहते हैं कि लखनऊ में मैदान में मिले।

Loading...

अफगानिस्तान प्रीमियर लीग के पहले सीजन का आयोजन पिछले साल 5 अक्टूबर से लेकर 21 अक्टूबर तक शारजाह में हुआ था जिसमें 5 टीमें खेली थी। इस लीग का खिताब मोहम्मद नबी की कप्तानी वाली टीम बाल्ख लीजेंड ने जीता था।

अफ़गानिस्तान प्रीमीयर लीग में क्रिस गेल, ब्रेंडन मैकुलम, बेन कटिंग, शाहिद अफरीदी, कोलिन इनग्राम और कोलिन मुनरो जैसे विदेशी खिलाड़ियों ने प्रतिभाग किया था। बीसीसीआई द्वारा रणजी की 10 बड़ी टीम के साथ सहयोगी सदस्यों के तौर पर अफगानिस्तान के कोचों को जोड़ने के ACB की विनती को स्वीकार कर लिया गया है। असदुल्ला खान ने बताया कि हमारे देश के क्रिकेट कोचों के लिए सीखने का बहुत ही बेहतरीन अवसर है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.