Loading...

दिल्ली में बसों से होगी महिलाओं के मुफ्त सफर की शुरुआत, दिल्ली सरकार ने दिए संकेत

0 37

आपको याद हो कि हाल ही में दिल्ली की अरविंद केजरीवाल ने ये एलान किया था कि दिल्ली एवं एनसीआर की महिलाओं को मुफ्त में मेट्रो एवं बसों में सफर की सुविधा दी जाएगी। बता दें कि दिल्ली सरकार की ओर से दिए गए महिलाओं को मुफ्त सफर के तोहफे की शुरुआत बसों से हो सकती है।

जी हां, दरअसल दिल्ली सरकार के एक अधिकारी के अनुसार, इस योजना की शुरुआत बसों में मुफ्त सफर के साथ हो सकती है। आपको बता दें कि इसके तहत महिलाएं डीटीसी और क्लस्टर स्कीम की बसों में मुफ्त सफर कर पाएंगी।

डीटीसी ने सौंपी है ये रिपोर्ट

मालूम हो कि महिलाओं के मुफ्त सफर को लेकर दिल्ली सरकार ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन यानी कि डीएमआरसी और दिल्ली परिवहन निगम यानी कि डीटीसी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी। बता दें कि दिल्ली सरकार को डीएमआरसी और डीटीसी दोनों से डिटेल रिपोर्ट मिल गई है।

Loading...

मालूम हो कि इस रिपोर्ट के मिलने के बाद दिल्ली सरकार के अधिकारियों का कहना है कि बसों में मुफ्त सफर की योजना जल्द शुरू हो सकती है। दरअसल अधिकारियों के अनुसार, डीटीसी में महिलाओं मुफ्त में टिकट दिए जाएंगे।

बता दें कि इससे सरकार को पता चल सकेगा कि कितनी महिलाओं ने फ्री सफर किया है। मालूम हो कि इन टिकटों की एवज में सरकार डीटीसी को भुगतान करेगी। इस योजना को लागू करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक टिकटिंग मशीन यानी कि ईटीएम के सॉफ्टवेयर में बदलाव किया जाएगा।

डीएमआरसी ने मांगा है 8 महीने का समय

जानकारी के लिए बता दें कि डीएमआरसी ने मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सफर कराने के लिए 8 महीने का समय मांगा है जबकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 2 से 3 महीने में इस योजना को शुरू करने की बात कह रहे हैं। दरअसल, डीएमआरसी ने अपनी रिपोर्ट में दो स्कीम बताई हैं।

जी हां, बता दें कि पहली स्कीम के तहत सॉफ्टवेयर में बदलाव की बात कही गई है। इसके लिए 1 साल का समय मांगा गया है। वहीं दूसरी स्कीम के तहत टोकन लेकर मुफ्त सफर करने की बात कही गई है। बता दें कि इसके लिए डीएमआरसी ने अलग से पिंक टोकन छपवाने को कहा है। मालूम हो कि इस स्कीम के लिए डीएमआरसी ने 8 महीने का समय मांगा है।

इतना आएगा खर्च

आपको बता दें कि डीएमआरसी ने महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त सफर कराने के लिए सालाना 1566.64 करोड़ रुपए खर्च आने का अनुमान जताया है। बता दें कि इस पर दिल्ली सरकार ने हामी भर दी है। दरअसल सरकार का मानना है कि महिलाओं के मुफ्त सफर कराने में डीटीसी पर 200 करोड़ और क्लस्टर बसों पर करीब 150 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। हालांकि आपको बता दें कि यह अभी अनुमानित बजट है। बता दें कि अंतिम प्रस्ताव तैयार होने के बाद ही सही बजट की आकलन हो सकेगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.