Loading...

तत्काल रिजर्वेशन करना हो तो जान लीजिए रेलवे के ये खास नियम, टिकट बुकिंग में होगी आसानी

0 37

भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुविधा के लिए कई प्रकार के खास नियम बनाए हैं जिनसे यात्रियों को असुविधा का सामना न करना पड़े. यही नहीं, इसके साथ ही ऑनलाइन टिकट बुकिंग सिस्टम को मजबूत करने के लिए भी खास कदम उठाए गए हैं.

दरअसल ऐसा है कि लगातार एजेंट की ओर से बल्क में बुक होने वाले टिकट के चलते आम यात्रियों को टिकट के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है. यही वजह है कि रेलवे ने टिकट बुकिंग के लिए अलग-अलग विंडो के हिसाब से श्रेणी के समय में भी तय कर रखा है.

जी हां, आपको बता दें कि जनरल टिकट बुकिंग के लिए IRCTC की वेबसाइट से सुबह 8 बजे से बुकिंग की जा सकती है. ऐसे में अगर आप भी ऑनलाइन टिकट बुकिंग कराने की सोच रहे हैं तो जरूर इन नियमों को जान लें क्योंकि ये आपके बहुत काम आ सकते हैं..

तत्काल टिकट के ये हैं नियम

Loading...

आपको बता दें कि IRCTC की वेबसाइट सुबह 8 बजे खुलती है. हालांकि, यह सिर्फ सामान्य टिकट बुकिंग के लिए होती है. बता दें कि तत्काल के लिए समय अलग हैं. इसमें भी AC और नॉन AC टिकट बुकिंग का समय अलग है.

जी हां, बता दें कि तत्काल में एसी क्लास के लिए टिकट बुक कराने के लिए 10 बजे से बुकिंग शुरू होती है. वहीं, नॉन-एसी टिकटों की बुकिंग इसके एक घंटे बाद यानी 11 बजे से शुरू होती है. मालूम हो कि बुकिंग शुरू होने के आधे घंटे तक अधिकृत एजेंट तत्काल टिकट नहीं बुक कर सकते हैं.

दो तत्काल टिकट बुक कर सकता है एक यूजर

जानकारी के लिए बता दें कि एक यूजर आईडी से दिन में सिर्फ 2 तत्काल टिकट बुक किए जा सकते हैं. वहीं, एक आईपी एड्रेस से भी अधिकतम 2 तत्काल टिकट बुक हो सकते हैं. बता दें कि एक यूजर लॉगिन से सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच केवल एक बुकिंग की जा सकती है, जिसमें आने-जाने दोनों की टिकट की टिकट शामिल हैं.

वहीं अगर दोबारा टिकट बुक करनी है तो इसके लिए लॉग-आउट करके दोबारा लॉगिन करना होगा. मालूम हो कि एक यूजर आईडी से एक महीने में अधिकतम 6 टिकट और आधार से लिंक होने पर 12 टिकट बुक किए जा सकते हैं.

ये हैं रिफंड के नियम

आपको बता दें कि नियमों के मुताबिक, कुछ शर्तों के साथ तत्काल टिकट पर 100 % रिफंड की भी सुविधा है. मालूम हो कि ट्रेन डिपार्चर के 2 घंटे लेट होने, रूट बदलने, बोर्डिंग स्टेशन से ट्रेन के नहीं जाने और कोच डैमेज होने या बुक टिकट वाली श्रेणी में यात्रा की सुविधा नहीं मिलने पर 100 % रीफंड मिलता है.

इसके अलावा IRCTC ने रजिस्ट्रेशन, लॉग इन और बुकिंग पेज पर कैप्चा कोड की व्यवस्था की है. दरअसलऑटोमेशन सॉफ्टवेयर के जरिए होने वाली टिकट बुकिंग पर रोक लगाने के मकसद से कैप्चा कोड की व्यवस्था की गई है. साथ ही पेमेंट ऑप्शंस के लिए OTP की भी सुविधा है.

इतने दिन पहले करा सकते हैं रिजर्वेशन

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लंबी दूरी की ज्यादातर ट्रेनों के लिए 120 दिन पहले से बुकिंग शुरू हो जाती है. जी हां, दरअसल यात्रा के दिन को 120 दिनों में शामिल नहीं किया जाता.

मालूम हो कि 120 दिन की गणना करने के लिए IRCTC की टिकट बुकिंग वेबसाइट पर दिए कैलकुलेटर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. बता दें कि दिन में चलने वाली और कम दूरी की कुछ ट्रेनों की बुकिंग अवधि 30 दिन और 15 दिन भी है. वहीं विदेशी नागरिक यात्रा से 360 दिन पहले टिकट बुक करा सकते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.