Loading...

सरफराज अहमद ने नहीं मानी अपने ही प्रधानमंत्री इमरान खान की बात, लिया उल्टा फैसला

0 19

भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए मैच में सरफराज अहमद ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। विश्व कप में भारत और पाकिस्तान के बीच अब तक खेले गए मैच में ऐसा पहली बार हुआ जब किसी कप्तान ने टॉस जीतने के बाद बल्लेबाजी नहीं चुनी। अब तक इस मुकाबले से पहले छह मुकाबलों में जिसने भी टॉस जीता उसने बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। इसलिए सरफराज का निर्णय चौंकाने वाला रहा। विराट कोहली ने बताया कि यदि मैं टॉस जीतता तो गेंदबाजी चुनता।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्विटर पर कहा था कि सरफराज को टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करनी चाहिए। लेकिन सरफराज ने उनकी बात नहीं मानी और उल्टा निर्णय लिया। बता दे कि इमरान खान ने मैच शुरू होने से पहले ट्विटर पर 5 ट्वीट किए थे जिसमें उन्होंने सरफराज अहमद को पहले बल्लेबाजी करने की सलाह दी थी।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि अपनी शानदार रणनीति के तहत सरफराज को बल्लेबाजों और गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरना चाहिए। काम चलाऊ बल्लेबाज और गेंदबाज में बहुत ही कम शानदार प्रदर्शन करते हैं। खासतौर पर भारत पाक मैच में। पिच में नमी ना होने पर सरफराज को टॉस जीतने के बाद बल्लेबाजी करनी चाहिए।

Loading...

इमरान खान ने बताया कि हारने का डर हमेशा नकारात्मकता और रक्षात्मक रणनीति की तरफ ले जाता है। पाकिस्तान ने विश्व कप 1992 का खिताब इमरान खान की कप्तानी में ही जीता था।

इमरान खान ने पाकिस्तान टीम को सलाह देते हुए लिखा कि हारने का डर तो दिमाग से निकाल देना चाहिए। इससे हम विरोधी टीमों की गलतियों पर भी ध्यान नहीं दे पाते।

पाकिस्तान को विश्व कप में भारत से एक भी बार जीत नहीं मिली। इसको लेकर इमरान खान ने लिखा था कि हमारी टीम भाग्यशाली है कि हमारे पास सरफराज अहमद जैसा कप्तान है। वह काफी साहसी है। आज सरफराज को अपना सबसे बेस्ट प्रदर्शन करना होगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.