Loading...

ESI सुविधा के लिए अब देना पड़ेगा कम पैसा, मोदी सरकार के इस फैसले से 3.6 करोड़ कर्मचारियों को हुआ फायदा

0 28

कर्मचारी राज्य बीमा के अंतर्गत आने वाले नौकरीपेशा लोगों के लिए बड़ी खबर आई है। जी हां, दरअसल केंद्र सरकार ने गुरुवार को ईएसआई एक्ट (ESI Act) के तहत अंशदान को 6.5 % से घटाकर 4 % कर दिया है।

मालूम हो कि इसके तहत इम्प्लॉयर्स का अंशदान 4.75 % से घटाकर 3.25 % और इम्प्लॉइज का अंशदान 1.75 % से घटाकर 0.75 % कर दिया गया है। बता दें कि आधिकारिक बयान के मुताबिक, नई दरें आगामी 1 जुलाई से प्रभावी होंगी। बता दें कि इसका फायदा देश के 3.6 करोड़ इम्प्लॉई और 12.85 लाख इम्प्लॉयर्स को होगा।

किन कर्मचारियों को होगा इसका फायदा

आपको बता दें कि सरकार के इस फैसले से ईएसआई के तहत आने वाले कर्मचारियों को खासा फायदा होगा और वर्कर्स इससे ईएसआई स्कीम के तहत ज्यादा से ज्यादा पंजीकरण के लिए प्रोत्साहित होंगे। इसके साथ ही फॉर्मल सेक्टर के अंतर्गत वर्कर्स की संख्या भी बढ़ेगी।

Loading...

बता दें कि इसी प्रकार इम्प्लॉयर्स पर वित्तीय बोझ घटेगा तो जाहिर है कि उनकी कंपनी की व्यवहार्यता में भी सुधार होगा। यह भी कहा गया है कि इससे ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में भी सुधार होगा।

1997 से लागू थी यह दर

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ईएसआई एक्ट को कर्मचारी राज्य बीमा निगम यानी कि ESIC द्वारा लागू किया जाता है। दरअसल ईएसआई एक्ट के तहत फायदे लेने के लिए इम्प्लॉइज और इम्प्लयार्स दोनों के द्वारा अंशदान किया जाता है।

बता दें कि भारत सरकार, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के माध्यम से ईएसआई एक्ट के अंतर्गत अंशदान दर के बारे में फैसला लेती है। मौजूदा समय में ईएसआई के तहत 6.5 % अंशदान किया जाता है। यह दर 1 जनवरी, 1997 से लागू है।

जानिए किन कर्मचारियों को मिलता है ईएसआई का लाभ

आपको बता दें कि ईएसआई योजना का लाभ उन इम्प्लॉइज को मिलता है, जिनकी मासिक आय 21 हजार रुपए से कम हो और जो कम से कम 10 इम्प्लॉइज वाली कंपनी में काम करते हों। बता दें कि साल 2016 तक मासिक आय की सीमा 15 हजार रुपए थी, जिसे 1 जनवरी, 2017 से बढ़ाकर 21 हजार रुपए किया गया था।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.