Loading...

चक्रवर्ती तूफान ‛वायु’ ने बदला अपना रास्ता, अब गुजरात से नहीं टकराएगा

0 24

कल तक यही लग रहा था कि अरब सागर की ओर से उठा चक्रवाती तूफान ‘वायु’ गुजरात का रुख कर रहा है ऐसे में काफी नुकसान हो सकता है लेकिन एक राहत की खबर इस संबंध में अब आई है. जी हां, दरअसल राहत की खबर ये है कि यह तूफान गुजरात के तटीय इलाकों को छूता हुआ निकल जाएगा. यानी वायु तूफान गुजरात से पूरी तरह से नहीं टकराएगा. दिशा बदलने से इसकी रफ्तार भी थो़ड़ा कम हुई है.

हालांकि गुजरात सरकार, सेना, वायु सेना और एनडीआरएफ की टीमें अलर्ट पर हैं और तटीय इलाकों से लोगों को निकालने का काम जारी है. बता दें कि अब तक 2.75 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है.

आपको बता दें कि अहमदाबाद स्थित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग केंद्र की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने इस संबंध में विचार प्रस्तुत किए और उन्होंने बताया कि चक्रवाती तूफान वायु के कारण गुजरात के सौराष्‍ट्र के तटीय इलाकों में गुरुवार की दोपहर में बारिश होगी. इस दौरान हवा की रफ्तार 135 से 160 किमी प्रति घंटा रहेगी. इसका सीधा असर दियू, गिर सोमनाथ, जूनागढ़, पोरबंदर और द्वारका पर पड़ेगा.

Loading...

उधर, तूफान के असर को देखते हुए मुंबई के सुंमद्री बीचों को आम जनता के लिए बंद कर दिया है. जी हां, दरअसल समुद्र में ऊंची लहरें उठने लगी हैं. इसके अलावा गुजरात के सभी बंदरगाह दो दिन के लिए बंद हैं.

साथ ही यहां के स्कूल-कॉलेज भी दो दिन के लिए बंद कर दिए गए हैं. इसके अलावा सभी अधिकारियों की छुट्टियां कैंसिल कर दी गई हैं. ये भी बता दें कि एनडीआरएफ की 55 टीमें अलर्ट पर हैं और वायु सेना के विशेष विमान तथा हेलीकॉप्टरों को सभी सुविधाओं से लैस करके तटीय इलाकों में तैनात किया गया है. बता दें कि पोरबंदर में एनडीआरएफ की 6 टीमें तैनात हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.