Loading...

कठुआ रेप केस को लेकर जावेद अख्तर का बड़ा बयान, बोले- दोषियों को मौत की सजा देना कोई हल नहीं

0 18

सोमवार को कठुआ रेप केस मामले में तीन दोषियों को उम्रकैद की सजा और तीन दोषियों को 5 साल की सजा सुनाई गई। कोर्ट का यह फैसला जानकार सोशल मीडिया पर लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी और दोषियों को इतनी कम सजा मिलने को लेकर लोगों के बीच बहस छिड़ गई। इस मामले पर लेखक जावेद अख्तर ने अपनी राय दी।

जावेद अख्तर ने कहा कि दोषियों को मौत की सजा देने को लेकर उनके स्पष्ट विचार नहीं है कि यह सही है या गलत। मौत की सजा देने से कोई हल नहीं निकलेगा, क्योंकि कई देशों में मृत्युदंड पर रोक है। लेकिन वहां अपराध की दर नहीं बढ़ी है। जबकि कुछ देश ऐसे भी है, जहां मृत्यु दंड के बावजूद बहुत अपराध होते हैं।

जावेद अख्तर ने कहा कि ऐसी सजा पाने वाले दोषी 2 से 3 साल बाद जेल से बाहर निकल आते हैं। हालांकि उम्र कैद की सजा है। लेकिन दोषियों को कुछ सालों के बाद जेल से रिहा होने की इजाजत नहीं मिलनी चाहिए। बता दें कि पिछले साल जनवरी के महीने में जम्मू-कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप हुआ। इसके बाद उसको मार दिया गया। इस हत्या मामले में अदालत ने 6 दोषियों में से 3 को अदालत ने उम्र कैद की सजा सुनाई है।

Loading...

इस मामले को लेकर देशभर में गुस्सा था। कोर्ट के फैसले के बाद पीड़िता की मां ने मुख्य अभियुक्त सांझी राम को फांसी की सजा देने की मांग की थी। इस मुद्दे की गूंज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सुनाई दी थी। अप्रैल 2018 में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने इस घटना को काफी डरावना बताया और यह उम्मीद जताई थी कि प्रशासन की ओर से इस मामले में न्याय जरूर मिलेगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.