Loading...

इन 2 खिलाड़ियों को छोड़कर वर्ल्ड कप 2003 में खेलने वाले सभी भारतीय खिलाड़ी हुए रिटायर

0 19

हाल ही में विश्व कप 2019 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच खेला गया जिसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हरा दिया। भारतीय टीम ने खूब जश्न मनाया। लेकिन अगले ही दिन हर भारतीय क्रिकेटर और क्रिकेट प्रेमी बहुत दुखी हो गए, क्योंकि भारतीय टीम के सिक्सर किंग युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। युवराज सिंह ने विश्व कप 2003 से लेकर विश्व कप 2011 तक भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया। विश्व कप 2003 में भारतीय टीम ने फाइनल तक का सफर तय किया था। लेकिन फाइनल मुकाबले में उसको हार झेलनी पड़ी थी। बता दें कि विश्व कप 2003 में खेलने वाले भारतीय खिलाड़ियों में से अब मात्र दो ही खिलाड़ी है जिन्होंने संन्यास नहीं लिया है।

युवराज सिंह विश्व कप 2003 में भारतीय टीम का हिस्सा थे। अब उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। अब मात्र दो ही खिलाड़ी ऐसे हैं जिनका सन्यास लेना बाकी है। जल्दी ही यह दो खिलाड़ी भी संन्यास का ऐलान कर सकते हैं। वह दो खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि स्पिनर हरभजन सिंह और विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल है। अब हरभजन सिंह और पार्थिव पटेल के सन्यास का की घोषणा बाकी है।

हरभजन सिंह को पिछले 3 सालों से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने का मौका नहीं मिला। वहीं पार्थिव पटेल ने पिछले साल टेस्ट क्रिकेट खेला। लेकिन 7 सालों से उनको वनडे और T20 क्रिकेट में खेलने का मौका नहीं मिला है। घरेलू क्रिकेट में उन्होंने गुजरात की तरफ से खेलते हुए काफी अच्छा प्रदर्शन किया है।

विश्व कप 2003 की भारतीय टीम

Loading...

1. सौरव गांगुली (रिटायर्ड)

2. सचिन तेंदुलकर (रिटायर्ड)

3. अजीत अगरकर (रिटायर्ड)

4. संजय बांगर (रिटायर्ड)

5. राहुल द्रविड़ (रिटायर्ड)

6. मोहम्मद कैफ (रिटायर्ड)

7. जहीर खान (रिटायर्ड)

8. अनिल कुंबले (रिटायर्ड)

9. दिनेश मोंगिया (रिटायर्ड)

10. आशीष नेहरा (रिटायर्ड)

11. वीरेंद्र सहवाग (रिटायर्ड)

12. जवागल श्रीनाथ (रिटायर्ड)

13. युवराज सिंह (रिटायर्ड)

14. हरभजन सिंह (एक्टिव)

15. पार्थिव पटेल (एक्टिव)

उस वक्त भारत को सर्वश्रेष्ठ से माना जाता था। लेकिन फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हरा दिया और तीसरी बार विश्वकप का खिताब जीता था। 2003 में कई ऐसे खिलाड़ी थे जिन्होंने हर क्रिकेट प्रेमी का दिल जीता था और वह आज भी हर किसी के दिल में बसे हुए हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.