दिल्ली का सुरक्षा कवच बनेगी 6000 करोड़ रुपए की ये मिसाइल, भारत अमेरिका से खरीद सकता है NASAMS-II

0 34

देश की सुरक्षा को और मजबूती देते हुए भारत ने अमेरिका से National Advanced Surface to Air Missile System-II (NASAMS-II) लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। जी हां, दरअसल भारत ड्रोन और बैलिस्टिक मिसाइल्स के हमलों से अपने एयरस्पेस की सुरक्षा करने के लिए यह मिसाइल सिस्टम खरीद रहा है। बता दें कि अमेरिका अपने फॉरेन मिलिट्री सेल्स प्रोग्राम के तहत जुलाई-अगस्त तक भारत को ‘लेटर ऑफ एक्सेपटेंस’ भेज सकता है। इस डील की कीमत की बात की जाए तो इस डील की कीमत 6000 करोड़ रुपए है।

Loading...

Loading...

दिल्ली के ऊपर लगेगी मल्टी लेयर्ड शील्ड

आपको बता दें कि अंग्रेजी अखबार बिजनेस स्टैंडर्ड की एक खबर के मुताबिक इस डील के फाइनल होते ही इस एयर मिसाइल की डिलीवरी दो से चार साल में हो जाएगी। मालूम हो कि NASAMS-II को स्वदेशी, रूसी और इजरायली सिस्टम के साथ इस्तेमाल करेगा, जिससे देश की राजधानी दिल्ली के ऊपर मल्टी-लेयर्ड शील्ड तैयार किया जा सके।

दरअसल दिल्ली के लिए प्रस्तावित एयर डिफेंस प्लान के तहत इस सुरक्षा कवच की अंदरूनी परत NASAMS होगा। वर्ष 2018 में तत्कालीन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने Defence acquisitions council (DAC) की बैठक की अगुवाई की थी, जिसमें NASAMS-II के अधिग्रहण के लिए ‘acceptance of necessity (AoN)’ को स्वीकार किया था।

जानिए क्या है NASAMS-II

मालूम हो कि NASAMS-II कोंग्सबर्ग डिफेंस एंड एयरोस्पेस/रेथिऑन नेशनल एडवांस्ड सर्फेस-टू-एयर मिसाइल का अपग्रेडेड वर्जन है। जी हां, दरअसल इसमें नया 3D मोबाइल सर्विलांस रडार और 12 मिसाइल लॉन्चर्स भी शामिल हैं। बता दें कि यह नया एयर डिफेंस सिस्टम लंबे समय से रुके पड़े द्वि-स्तरीय बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस यानी कि BMD सिस्टम की जगह लेगा।

बता दें कि BMD सिस्टम को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन यानी कि DRDO तैयार कर रहा है और यह एडवांस्ड स्टेज में है। बता दें कि NASAMS की बैटरी में 12 मल्टीमिसाइल लॉन्चर्स दिए गए हैं। इसके अलावा इसमें से हर एक मिसाइल निम्नलिखित चीज़े ले जाने में सक्षम है:

6 AIM 120 सीरीज की एडवांस्ड मीडियम-रेंज एयर-टू-एयर (AMRAAMs)

सर्फेस-टू-एयर मिसाइल

8 AN/MPQ-64 Sentinel X-band 3D रडार

4 फायर डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर्स

और MPS 500 electrooptical/infrared (EO/IR) सेंसर सिस्टम व्हीकल्स

भारत को THAAD ऑफर कर रहा है अमेरिका

आपको बता दें कि अमेरिका भारत को रूसी S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम का विकल्प ऑफर कर रहा है। मालूम हो कि भारत ने रूस के साथ 5.4 अरब डॉलर में S-400 ट्रायंफ मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदने की डील साइन की है।

दरअसल इससे अमेरिका भारत से नाराज है और उसने मई में ही इस मिसाइल सिस्टम के विकल्प के तौर पर भारत को Terminal High Altitude Area Defense (THAAD) और Patriot Advance Capability (PAC-3) मिसाइल डिफेंस सिस्टम बेचने की पेशकश की थी। बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो THAAD की यह यूनिट की कीमत 3 अरब डॉलर है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.