Loading...

जल्द आने वाली है ई-सिम, अब आप अपनी मर्जी के मुताबिक बदल सकेंगे अपना पसंदीदा सिम ऑपरेटर

0 15

अगर आप भी उनमें से हैं जो अपनी मोबाइल सिम ऑपरेटर कंपनी से नाखुश हैं और किसी और ऑपरेटर की सर्विस पर स्विच करना चाहते हैं और साथ ही नई टेक्नोलॉजी को अपनाने में झिझकते नहीं है तो जल्द ही यह आसान होने वाला है।

जी हां, दरअसल टेलीकॉम प्रोवाइडर्स जल्द ही बाजार में embedded sim या ई-सिम कार्ड उतारने जा रहे हैं। जानकारी के लिए बता दें कि यह एक डिजिटल सिम कार्ड होगा, जो बिना फिजकल सिम कार्ड के भी काम करेगा।

किस तरह करेगा ये सिम काम

आपको बता दें कि सब्सक्राइबर्स ई-सिम के इस्तेमाल से किसी कंपनी के मोबाइल टैरिफ प्लान को एक्टिवेट कर सकेंगे, इसके लिए उन्हें फिजिकल सिम कार्ड की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके अलावा ई-सिम के जरिए ग्राहकों के लिए बिना अपना नंबर बदले एक ऑपरेटर से दूसरे ऑपरेटर पर स्विच करना बेहद आसान होगा। बता दें कि फिलहाल यह कार्ड इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) में और मशीन-2-मशीन सॉल्युशंस में होता है।

Loading...

ई-सिम अपनाने में ये हैं चुनौतियां

मालूम हो कि अभी तक अधिकतर कंपनियों के हैंडसेट ई-सिम के लिए तैयार नहीं हैं। जी हां, अभी सिर्फ iPhones XS, XS Max, XR और Google Pixel 3 जैसी प्रीमियम डिवाइसेज ही ई-सिम कार्ड को सपोर्ट करती हैं। यही वजह है कि कैरियर्स को अपने पुराने ग्राहक बनाए रखने और नए ग्राहक जोड़ने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी। इसके चलते प्रतिस्पर्द्धा बढ़ने की उम्मीद है, जिससे कंपनियों का मुनाफा घटेगा।

क्या है आगे की संभावनाएं

आपको बता दें कि फिलहाल देश में ई-सिम का उपयोग 1 % से भी कम है और इसी वजह से इसके साल 2025 तक बढ़कर 25 % तक होने की उम्मीद है। वहीं ग्लोबल रूप से ई-सिम बाजार का साल 2023 तक 97.83 करोड़ डॉलर होने की उम्मीद है। फिलहाल इस बाजार का साइज 25.38 करोड़ डॉलर है।

बता दें कि जहां तक बात है टेलीकॉम ऑपरेटर्स की है तो, वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल ई-सिम के साथ काम करने को तैयार हैं। इसके अलावा एयरटेल और जियो ने ई-सिम इनेबल्ड Apple Watches बेचने के लिए Apple के साथ पार्टनरशिप भी की है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.