Loading...

अगर आप निकालना चाहते हैं अपने PF का पैसा, तो अपनाएं ये तरीका, 3 दिन में खाते में आ जाएगा पैसा

0 239

अगर आप भी नौकरीपेशा हैं तो बता दें कि आपके लिए एक राहत भरी खबर आई है. जी हां, दरअसल अब नौकरीपेशा लोगों के लिए ईपीए यानी एम्प्लॉई प्रोविडेंट फंड निकालना बेहद आसान हो गया है.

बता दें कि पीएफ आपके एक रिटायरमेंट प्लान की तरह है. इसमें निवेश का फायदा लंबी अवधि में मिलता है. रिटायरमेंट के वक्त किए गए विथड्रॉल क्लेम से एक एक्युमुलेटेड प्रोविडेंट फंड मिलता है. दरअसल पहले लोग नौकरी बदलने के वक्त अपना फंड ट्रांसफर करा लेते थे. लेकिन, पिछले कुछ वर्षों में ईपीएफओ के रिकॉर्ड निकासी के लिए ज्यादा आवेदन देखने को मिले. बता दें कि यही वजह है कि निकासी की प्रक्रिया को भी आसान किया गया है.

ऑनलाइन निकालें पीएफ का पैसा

आपको बता दें कि अब ऑनलाइन सुविधा के जरिए आसानी से अपना पीएफ निकाला जा सकता है. इसके लिए एक प्रोसेस से गुजरना होगा. दरअसल अगर आपका आधार EPFO में लिंक है तो प्रोसेसिंग टाइम कुल मिलाकर 3-4 दिन का है.

Loading...

बता दें कि EPFO सेटलमेंट को और जल्दी बनाने की तैयार कर रहा है. ऐसे होने पर अप्लाई करने के कुछ घंटों के अंदर ही पैसा निकाला जा सकेगा. हालांकि, इसके लिए जरूरी है कि आपके पीएफ अकाउंट का KYC पूरा होना चाहिए.

ईपीएफ मेंबर के पास ऑनलाइन विदड्रॉल क्लेम को प्रोसेस करने के लिए नीचे दी गई जानकारी जरूर होना चाहिए.

ये है सबसे जरूरी

मालूम हो कि EPFO अब अकाउंट होल्डर्स के लिए एक यूनिवर्सल अकाउंट नंबर जारी करता है. एक बार यह जेनरेट होने पर तब तक निष्क्रिय नहीं होता जब तक कोई नौकरी बदलते वक्त पीएफ का पैसा निकाल न ले.

बता दें कि अगर ऐसा होता है तो नया यूनिवर्सल अकाउंट नंबर जारी किया जाता है. इस नंबर का एक्टिवेटेड होना जरूरी है. इसके अलावा मेंबर का मोबाइल नंबर यूएएन डेटाबेस में रजिस्टर्ड होना चाहिए.

साथ ही मेंबर का आधार ब्योरा ईपीएफओ वेबसाइट पर होना चाहिए.

बता दें कि मेंबर का बैंक ब्योरा भी यूएएन में दर्ज होना चाहिए.

इसके अलावा मेंबर का पैन भी ईपीएफओ डेटाबेस में होना चाहिए.

कहां से करना है अप्लाई

आपको बता दें कि ईपीएफओ के मेंबर को ई-सेवा पोर्टल https:unifiedportal-mem.epfindia.gov.in पर लॉग इन करना होगा.

ये है निकासी की प्रक्रिया

बता दें कि लॉग इन करने के बाद आपको आधार बेस्ड ऑनलाइन क्लेम सबमिशन टैब को सेलेक्ट करना होगा. दरअसल इसके बाद मेंबर को अपनी केवाईसी डिटेल्स वेरिफाई करनी होती हैं. बता दें कि क्लेम विथड्रॉल करने के लिए अलग-अलग विकल्पों में से आवश्यक ऑप्शन को चुना जा सकता है.

यूं पूरा होगा प्रोसेस

मालूम हो कि ईपीएफओ की तरफ से आपके यूआईडीएआई डेटाबेस में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा. ओटीपी को एंटर करने के बाद क्लेम फॉर्म सबमिट हो जाता है. दरअसल इसके बाद इससे विथड्रॉल प्रोसेस शुरू हो जाता है. बता दें कि क्लेम प्रोसेस होने के बाद विथड्रॉल अमाउंट को एम्प्लॉई के रजिस्टर्ड बैंक अकाउंट में डाल दिया जाता है.

रखें इस चीज का ध्यान

आपको बता दें कि ईपीएफओ मेंबर को इस ऑनलाइन सुविधा का इस्तेमाल करने के लिए अपने एंप्लॉयर के पास जाने की जरूरत नहीं है. हालांकि, उसके पास कंपनी का इस्टैबलिशमेंट नंबर होना चाहिए.

यहां एक बात का विशेष रूप से ध्यान रहे कि आधार डेटाबेस में रजिस्टर्ड आपका मोबाइल नंबर और EPFO में दर्ज मोबाइल नंबर एक ही होना चाहिए.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.