Loading...

भारतीय मोबाइल बाजार के बाद अब कार इंडस्ट्री में एंट्री करेगा ड्रैगन, 12,000 हजार करोड़ का करेगा निवेश

0 16

भारत के ऑटोमोबाइल सेक्टर में अब चीन की बड़ी कार निर्माता कंपनियां कदम रखने की तैयारी में हैं। जी हां, दरअसल चीनी कंपनियां भारत में न सिर्फ डीजल, पेट्रोल, सीएनजी बल्कि इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने की दिशा में काम कर रही हैं। दरअसल भारत में चीनी स्मार्टफोन के आने के बाद मार्केट में एक क्रांति सी नजर आयी है।

यही कारण है कि ऐसे में ऑटोमोबाइल सेक्टर में भी चीनी कंपनियों की एंट्री के बाद सस्ती कीमत में उम्दा टेक्नोलॉजी वाली कार की लॉन्च होगी, जो बाकी कार निर्माता कंपनियों को बड़ी टक्कर देगी।

4 जून को भारत में पेश होगी पहली इंटरनेट कार

आपको बता दें कि चीन की पहली एसयूवी हेक्टर के भारत में इसी महीने यानी कि जून में लॉन्चिंग की तैयारी है, जबकि इस कार की बुकिंग 4 जून से शुरू हो रही है। दरअसल इसे भारत की पहली इंटरनेट एसयूवी बताया जा रहा है। चीन की यूटिलिटी व्हीकल मेकर ग्रीन वॉल मोटर्स भारत में करीब 7000 करोड़ करोड़ रुपए निवेश करने जा रही हैं।

Loading...

मालूम हो कि ग्रेट वॉल मोटर इस निवेश के साथ अगले 5 साल में दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी कार निर्माता बनने का सपना देख रही है। इसके लिए उसने भारत को सबसे मुफीद मार्केट समझा है। बता दें कि ग्रेट वॉल का ऑफिस गुरुग्राम में हवल ब्रांड के नाम से खोला जाएगा।

कार मैन्युफैक्चरिंग यूनिट की जमीन की तलाश

आपको बता दें कि ग्रेट वाल के कई अधिकारी भारत में कार मैन्युफैक्चरिंग यूनिट की जगह की तलाश कर रहे हैं. जी हां, दरअसल इसमें गुजरात, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु का नाम पर विचार किया जा रहा है। बता दें कि इस यूनिट से साल 2022 तक पहली एसयूली के बनाने की योजना है। मालूम हो कि भारत में हवल (Haval) ब्रांडेड एसयूवी की कीमत 10 से 20 लाख रुपए हो सकती है।

चीनी कंपनियां ला सकती हैं ऑटोमोबाइल सेक्टर में तेज़ी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चीन के दूसरी ऑटोबाइल कंपनी SAIC भारत में 5000 करोड़ रुपए निवेश करेगी। जी हां, दरअसल चीन की कई ऑटो मेकर कंपनियां भारत के साल 2020 में होने वाले ऑटो एक्सपो में हिस्सा लेगी। दरअसल चीनी कंपनियों ने यह निर्णय ऐसे वक्त में लिया, जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कार सेल्स में गिरावट दर्ज की जा रही है, जिसका असर भारत में भी देखा जा रहा है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.