Loading...

मैनपुरी के जिला अस्पताल के शौचालय के पॉट में मिला नवजात बच्चे का शव, टैंक में डालने की थी कोशिश

0 17

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी के जिला अस्पताल में 25 मई को शौचालय के पॉट में नवजात शिशु का शव फंसा हुआ मिला। अस्पताल प्रशासन द्वारा शव को निकाल कर उसकी सफाई कराई गई जिसके बाद नवजात शिशु के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जब कर्मचारी श्रीचंद्र जिला अस्पताल की इमरजेंसी में सुबह के वक्त 9:00 बजे करीब सफाई करने के लिए पहुंचा तो उसने देखा कि शौचालय के पॉट में शिशु का शव फंसा हुआ है। इस बात की जानकारी श्रीचंद्र ने अस्पताल के इमरजेंसी स्टाफ को दी।

ईएमओ डॉ. राजेश कुमार, फार्मासिस्ट निशाद हुसैन, शिव कुमार, महेंद्र सिंह, हेमेंद्र सिंह, पारुल पांडेय ने शौचालय में पहुंचकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी श्रीचंद्र से नवजात का शव पॉट से बाहर निकलवाया और फिर उसकी सफाई करवाई।

जब डॉक्टरों ने उस नवजात के स्वास्थ्य की जांच की तो पता चला वह मर चुका है। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर भीड़ एकत्रित हो गई। डॉक्टर राजेश कुमार ने पुलिस को फोन कर सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

Loading...

नवजात शिशु लड़का था। नवजात शिशु को पॉट के जरिए टैंक में डालने का प्रयास किया गया। लेकिन लड़के का सिर पॉट में फंसा रह गया। लोगों ने बताया किसी ने अपनी गलती छुपाने के लिए इस बच्चे को मारने का प्रयास किया।

नवजात शिशु का शव मिलने पर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। अस्पताल में कई सारे सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। लेकिन इसके बावजूद भी अस्पताल के शौचालय में नवजात का शव पहुंचा। हालांकि अस्पताल प्रशासन द्वारा सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखने की जिम्मेदारी नहीं समझी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.