Loading...

आम आदमी पार्टी को लगा गहरा सदमा, नतीजे आने से पहले ही दफ्तर पर छाया सन्नाटा

0 12

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने शुरू हो गए हैं। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस दफ्तर में पूजा और हवन जारी है। लेकिन आम आदमी पार्टी के दफ्तर में पूरी तरह से सन्नाटा दिखाई दे रहा है। लेकिन जब 2017 में पंजाब विधानसभा चुनाव के नतीजे आए तो उससे पहले ही दिल्ली और पंजाब दोनों जगह पार्टी दफ्तर को फूल और गुब्बारों से काफी शानदार तरीके से सजाया गया और नतीजे आम आदमी पार्टी के पक्ष में ही आए थे।

दिल्ली की 7 सीटों और पंजाब की 13 सीटों पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार हैं। एग्जिट पोल में दिखाया गया कि आम आदमी पार्टी के खाते में सिर्फ एक सीट जा रही है। बीजेपी ने साल 2014 में पंजाब में 4 सीटें जीती थी।

दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ में उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं जिनमें चांदनी चौक ( पंकज गुप्ता ), ( पूर्वी दिल्ली) आतिशी, उत्तर पश्चिम दिल्ली ( गुगन सिंह), दक्षिण दिल्ली (राघव चड्ढा), नई दिल्ली (बृजेश गोयल), पश्चिम दिल्ली सीट ( बलवीर जाखड़) और उत्तर-पूर्वी दिल्ली (दिलीप पांडेय ) शामिल है।

अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी का गठन किया था और 2013 में दिल्ली के विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाई। लेकिन बहुमत नहीं मिला और उसने कांग्रेस के समर्थन में सरकार बनाई। उन्होंने लोकसभा चुनाव से पहले ही इस्तीफा दिया और वाराणसी से नरेंद्र मोदी के विरुद्ध चुनाव लड़ा। लेकिन उनको जीत नहीं मिली। उनको करीब 200000 वोट मिले और वह दूसरे नंबर पर रहे।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.