वर्ल्ड कप 2019 से पहले महेंद्र सिंह धोनी को लेकर विराट कोहली ने कह दिया कुछ ऐसा, जानिए

0 7

विश्व कप के लिए इंग्लैंड रवाना होने से पहले भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने बताया कि विश्व कप 2011 की जीत ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने के बराबर है। कोहली ने बताया कि विश्व कप एक ग्लोबल टूर्नामेंट है। यह हर 4 साल में एक बार आता है। यह टूर्नामेंट जीतना किसी भी जीत से कमतर नहीं हो सकता। टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए गए इंटरव्यू में कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी की फॉर्म को लेकर उठ रहे सवालों का उत्तर दिया। कोहली का मानना है कि धोनी के लिए टीम से बढ़कर और कुछ मायने नहीं रखता।

Loading...

Loading...

कोहली ने बताया कि मैं धोनी के बारे में क्या कह सकता हूं। उनकी कप्तानी में मेरे करियर की शुरुआत हुई। बहुत ही कम लोगों ने धोनी को करीब से देखा होगा। उनके लिए टीम सबसे मायने रखती है। यह बात सबसे महत्वपूर्ण है। धोनी की सभी बातें टीम से संबंधित होती है। फिर चाहे जो हो। धोनी के पास जो अनुभव है वह हमारी सहायता करता है। धोनी विकेट के पीछे से जो शिकार करते हैं वह मैच का नतीजा बदल देते हैं। आईपीएल में भी यह देखने को मिला।

कोहली ने धोनी की आलोचना को दुर्भाग्यपूर्ण कहा। कोहली ने बताया कि लोगों के पास सब्र नहीं है। कोई दिन खराब निकल जाता है। लेकिन उसे बढ़ा चढ़ाकर पेश करते हैं। धोनी सबसे चतुर क्रिकेटरों में से एक माने जाते हैं। विकेट के पीछे वह अद्वितीय है। धोनी के टीम में होने से स्वतंत्रता मिलती है। टीम में धोनी जैसा खिलाड़ी होना अनुभव की दौलत लाता है।

कोहली और रवि शास्‍त्री ने बताया कि बतौर कप्तान रोहित और धोनी ने जो किया उससे उनकी काबिलियत के बारे में पता चलता है। धोनी के पास विरासत है। इसी कारण टीम मैनेजमेंट द्वारा एक स्ट्रेटजी पुल बनाया गया है। उसमें हम दोनों के अतिरिक्त धोनी और रोहित भी शामिल है। रवि शास्त्री ने कहा कि रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी भारत की ही नहीं बल्कि विश्व की सबसे बेस्ट ओपनिंग जोड़ी है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.