Loading...

भीम से पराजित होने के बाद घायल दुर्योधन ने श्री कृष्ण को बताई अपनी गलतियां, श्री कृष्ण ने दुर्योधन से कहा कि तुमने भरी सभा में अपनी कुलवधू के वस्त्रों का हरण किया था, ये काम भी तुम्हारे विनाश के

0 12

दुर्योधन द्वारा महाभारत में बहुत गलतियां हुई। इस वजह से वो युद्ध हारा और युद्ध में पूरे कौरव वंश का नाश हुआ। महाभारत का युद्ध जब समाप्त हुआ और दुर्योधन को भीम ने परास्त कर दिया तब वह जमीन पर लेटे हुए तीन उंगलियां दिखाकर कुछ बताने का प्रयास कर रहा था। वह बुरी तरह जख्मी हो गया। इसी कारण वह कुछ नहीं कह पा रहा था। दुर्योधन की हालत देख कर श्री कृष्ण उसके पास चले गए और दुर्योधन से जाकर बात की। दुर्योधन ने बताया कि मैंने तीन बड़ी गलतियां की। इस वजह से यह युद्ध हार गया।

Loading...

पहली गलती

दुर्योधन ने श्री कृष्ण को बताया कि मेरी पहली गलती यह थी कि मैंने स्वयं नारायण को ना चुनकर नारायण की सेना को चुना।

Loading...

दूसरी गलती

जब माता गांधारी ने नग्न अवस्था में बुलाया था तो मैं कमर के नीचे पत्ते लपेट कर गया था। यदि मैं पूरे नग्न अवस्था में जाता तो मेरा शरीर वज्र के समान होता और कोई भी परास्त नहीं कर पाता।

तीसरी गलती

दुर्योधन ने कृष्ण से कहा कि तीसरी गलती यह रही कि मैं युद्ध में सबसे अंत में आगे गया। यदि युद्ध के शुरुआत में ही में आगे जाता तो कौरव वंश का नाश नहीं होता।

श्रीकृष्ण ने बताया कौरव वंश के नाश का कारण

दुर्योधन की इन बातों को सुनकर श्रीकृष्ण ने कहा कि तुम्हारी हार का कारण तुम्हारा अधर्मी व्यवहार रहा। तुमने अपनी कुलवधू के वस्त्रों का हरण किया। वह भी भरी सभा में। यही तुम्हारे विनाश के कारणों में से एक रहाय। इसके अलावा भी तुमने अपने जीवन में कई ऐसे अधर्म किए जो तुम्हारी हार के कारण रहे। हर किसी को अधर्म करने से बचना चाहिए और स्त्रियों को सम्मान देना चाहिए। इन सभी चीजों को ना करने से जीवन बर्बाद हो जाता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.