Loading...

कोलकाता हिंसा पर अमित शाह ने ममता सरकार पर बोला हमला, बोले- CRPF नहीं होती तो जान बचनी थी मुश्किल

0 13

पश्चिम बंगाल में इन दिनों सियासी भूचाल आ गया है। जी हां, दरअसल बंगाल में रोड शो के दौरान लगे हिंसा के आरोपों को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को प्रेस कॉफ्रेंस की। बता दें कि अमित शाह ने कहा कि अब तक चुनाव के 6 चरण समाप्त हो चुके हैं, इन 6 के 6 चरणों में सिवाय बंगाल के कहीं भी हिंसा नहीं हुई।

Loading...

उन्होंने आगे कहा कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस हिंसा कराती है। यहां पर लोकतंत्र का गला घोटा जा रहा है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मंगलवार को रोड शो के 3 घंटे पहले भाजपा के पोस्टर उतारे गए।

दरअसल अमित शाह ने कहा कि वह ममता दीदी को बताना चाहते हैं कि वह सिर्फ 42 सीटों पर चुनाव लड़ रहीं हैं और भाजपा देश के सभी राज्यों में चुनाव लड़ रही है । मगर कहीं पर भी हिंसा नहीं हुई, लेकिन बंगाल में हर चरण में हिंसा हुई इसका साफ मतलब है कि हिंसा TMC कर रही है।

Loading...

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आगे कहा कि रोड शो से पहले ही वहां लगे पोस्टर फाड़ दिए गए। रोड शो शुरू हुआ, जिसमें अभूतपूर्व जनसैलाब उमड़ा, 2.30 घंटे तक शांतिपूर्ण तरीके से रोड शो चला।

शाह ने कहा कि सुबह से पूरे कोलकाता में चर्चा थी कि यूनिवर्सिटी के अंदर से आकर कुछ लोग दंगा करेंगे। पुलिस ने कोई जांच नहीं की और न ही किसी को गिरफ्तार करने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि, जहां ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतीमा रखी है वो जगह कमरों के अंदर है। कॉलेज बंद हो चुका था, सब लॉक हो चुका था, फिर किसने कमरे खोले।

शाह ने कहा कि, ताला भी नहीं टूटा है, फिर चाबी किसके पास थी। कॉलेज में टीएमसी का कब्जा है। वोटबैंक की राजनीति के लिए महान शिक्षाशास्त्री की प्रतिमा का तोड़ने का मतलब है कि टीएमसी की उल्टी गिनती शुरू हो गई।

चुनाव आयोग बना मूक दर्शक

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि बंगाल में चुनाव आयोग मूक दर्शक बना है। चुनाव आयोग ने तुरंत हस्तक्षेप करना चाहिए।

शाह ने कहा कि वह पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि 5वें और छठे चरण के बाद भाजपा अकेले पूर्ण बहुमत का आंकड़ा पार कर चुकी है। 7वें चरण के बाद 300 सीटों से ज्यादा जीतकर नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनाने जा रहे हैं।

अमित शाह ने आगे कहा कि वह बंगाल की जनता के आक्रोश को देख चुके हैं, जैसी स्थिति वहां ममता दीदी ने बनाई है उसे जनता स्वीकार नहीं कर सकती। दरअसल भाजपा अध्यक्ष बोले की अगर CRPF न होती तो मेरा वहां से बच निकलना बहुत मुश्किल था। उन्होंने कहा कि हमारे बहुत कार्यकर्ता मारे गए हैं, मुझ पर हमला होना भी स्वाभाविक था, इससे ये तय हो गया है कि TMC किसी भी हद तक जा सकती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.