प्रोफेसर ने अपनी ही स्टूडेंट का किया रेप, पत्नी बनाती रही वीडियो और वो करता रहा गंदी हरकतें, लड़की हुई प्रेगनेंट तो

0 1,070

पंजाब के लुधियाना से एक बेहद ही सनसनीखेज मामला सामने आया है। जी हां, दरअसल यहां बच्चा न होने पर शादीशुदा प्रोफेसर ने अपनी ही नर्सिंग स्टूडेंट को पत्नी के जरिए घर बुलाकर उसके संग गलत व्यवहार किया और उसे गर्भवती भी बना दिया।

Loading...

Loading...

दरअसल इस प्रोफेसर ने लड़की को चाय दी और इसी चाय में नशीली चीज दे बेहोश कर रेप किया और फिर वीडियो भी बना लिया। इसके बाद लड़की के प्रेग्नेंट होने पर प्रोफेसर ने पहली पत्नी को तलाक दिए बिना उससे शादी कर ली। फिर पीड़िता से बच्चा छीनकर उसे घर से निकालने की कोशिश की। लेकिन पीड़िता ने बच्चा नहीं दिया और किसी तरह आरोपी के पास से भागकर पुलिस को शिकायत दी।

आपको बता दें कि थाना सदर पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर राणा यादविंदर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बता दें कि पीड़िता के अनुसार आरोपी राणा यादविंदर सिंह मौजूद समय में गुरु हरसहाय के एक कॉलेज में तैनात है, जबकि उसकी पत्नी मोरिंडा के एक कॉलेज में वाइस प्रिंसिपल है।

दरअसल पूरी कहानी यह है कि पीड़िता एक कॉलेज में नर्सिंग का डिप्लोमा कर रह थी। आरोपी उस समय उसी कॉलेज में प्रोफेसर था। वर्ष 2015 में पीड़ित ने अपनी स्टडी पूरी कर ली। इसके बाद खुद का बच्चा न होने के चलते आरोपी पीड़िता को अपनी बेटी मानने लग गया।

फिर साल 2016 में आरोपी ने उसे अपने घर बुला लिया। वहां पर उसकी पत्नी ने पीड़िता को चाय दी। चाय पीते ही वह बेसुध हो गई। इसके बाद आरोपी ने उसके साथ रेप किया। होश आने पर विरोध किया तो आरोपी व उसकी पत्नी ने गलती मानकर माफ कर देने की बात कहनी शुरू कर दी।

इसके बाद पीड़िता पानीपत चली गई। लेकिन आरोपी ने उसका एड्रेस निकालकर दोबारा से उससे संपर्क किया। उसने बहाने से दोबारा घर बुलाया और धोखे से दोबारा उसके साथ रेप किया। जबकि उसकी पत्नी ने वीडियो बना लिया।

बता दें कि फिर इसके 4 महीने बाद पीड़िता को प्रेग्नेंट होने का पता चला तो उसने आरोपी को बताया। आरोपी ने उससे शादी कर पहली पत्नी को तलाक देने की बात कही। लेकिन बिना तलाक दिए पीड़िता से दूसरी शादी कर ली।

इसके बाद फिर जून 2018 में उसके बेटा हुआ तो आरोपी उसे अपने घर ले गया। वहां वह दोनों पत्नियों के साथ रहने लगा। पीड़िता अनुसार कुछ दिन बाद आरोपी ने उसके साथ मारपीट करनी शुरू कर दी और वीडियो वायरल करने की धमकियां देने लगा।

फिर किसी तरह पीड़िता वहां से बचकर भाग निकली। पीड़िता ने पुलिस को आरोपी की पत्नी के खिलाफ भी शिकायत दी, लेकिन उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

पीड़िता 6 महीने इंसाफ के लिए भटकती रही

दरअसल पीड़िता के अनुसार सितंबर 2018 में आरोपी के घर से निकलकर पहले नंगल, फिर रोपड़, लुधियाना, चंडीगढ़ में आरोपी के खिलाफ शिकायतें दीं। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद आखिरकार उसने स्टेट कमीशन ऑफ शेड्यूल कास्ट को शिकायत दी तो उनकी ओर से लुधियाना पुलिस को कार्रवाई के लिए कहा गया।

बता दें कि एडीसीपी गुरप्रीत कौर पुरेवाल द्वारा मामले की जांच की गई और फिर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। मालूम हो कि आरोपी द्वारा सभी दस्तावेजों में बच्चे की मां अपनी पहली पत्नी को बताया गया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.