सहेली पर भरोसा कर उसके साथ इंटरव्यू देने गई थी युवती, जैसे ही वहां पहुंची उसे बना लिया बंधक, 2 महीने तक शराब पिलाकर करवाया गंदा काम

0 869

पंजाब के भटिंडा से बेहद ही चौंका देने वाली खबर आई है जिसके बारे में सुनकर आप दंग रह जाएंगे। जी हां, दरअसल यहां एक लड़की को उसी की सहेली ने धोखा दे दिया। दरअसल 19 साल की लड़की को उसकी सहेली ने काल सेंटर में नौकरी का झांसा देकर देह व्यापार के धंधे में धकेल दिया। आपको बता दें कि पीड़िता को उसकी सहेली ने एक पंजाबी गायिका से मिलकर 2 महीने तक एक घर में बंधक बनाकर रखा। इसके बाद पीड़िता को शराब पिलाकर उससे देह व्यापार करवाया गया। लड़की किसी तरह बचकर परिवार के पास पहुंची। बता दें कि पुलिस ने दो महिलाओं समेत 10 लोगों पर मामला तो दर्ज किया है हालांकि अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Loading...

Loading...

दरअसल पीड़िता ने बताया कि 19 जनवरी को दोपहर 12:30 बजे के करीब उसकी सहेली रमा उसके घर आई और उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर साथ ले गई। इसके बाद पीड़िता घर में बिना किसी को बताए चली गई। बता दें कि रमा के घर में रहने के बाद वह उसे अमरजीत कौर के घर में छोड़ आई। रमा ने उससे कहा कि जब तक उसे चंडीगढ़ से कंपनी का फोन नहीं आता वह अमरजीत के घर में रहेगी। अमरजीत उसे घर से बाहर निकलने नहीं देती थी। 1 फरवरी को जस्सी और शाहरुख नामक दो युवक अमरजीत के घर आए और मुझे, अमरजीत कौर और रमा को रात करीब 11.30 बजे कृष्णा काॅन्टीनेंटल होटल में ले गए। जहां पहले से अली और विक्की नाम के दो और युवक मौजूद थे। यहां उक्त सभी ने उसे शराब पीने को मजबूर कर दिया। जब उसे नशा होने लगा तो अली नामक व्यक्ति उसे कमरे में ले गया और रेप किया। इसके बाद शाहरूख, विक्की, जस्सी ने भी उसके संग गलत काम किया।

बता दें की इस सब के बारे में उसकी सहेली रमा और अमरजीत कौर को पता था। आरोपी सुबह उसे अमरजीत कौर के घर ले गए। अमरजीत ने उसे धमकी दी कि अगर किसी को कुछ बताया तो उसे जान से मरवा देगी। इस दौरान उसके साथ अवतार सिंह, आजाद, पप्पू, छिंदा के अलावा अन्य कई लोगों ने रेप किया। पीड़िता ने बताया कि लोगों से पैसे लेने के बाद अमरजीत कौर और रमा आपस में बांट लेते थे।

बेचने के डर से घर से भागी

पीड़िता के अनुसार ये सिलसिला करीब दो महीने तक चलता रहा। उसके पास मोबाइल फोन नहीं था, उसे एक कमरे में बंद रखा जाता था और जब कोई व्यक्ति आता तो उसे उसके हवाले कर दिया जाता। इसी बीच उसकी सहेली रमा ने उसे कहा कि दो दिन के बाद हम चंडीगढ़ चलेंगे जहां उन्हें नौकरी मिल जाएगी। इसको सुनकर वह डर गई, दरअसल उसे लगा ये लोग उसे कहीं बेच न दें। इसी के बाद 17 मार्च को सुबह 4 बजे वह किसी तरह से वहां से निकलकर अपने घर पहुंची।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.