विजय माल्या केस में आया नया मोड़, लपेटे में आ सकता हैं ये उद्योगपति

0 23

करोड़ों का घोटाला कर के लंदन में पनाह लेने वाले विजय माल्या के केस में अब देश के कई बड़े उद्योगपतियों का नाम सामने आ सकता है। जी हां, और इस मामले में जांच एजेंसियों ने पड़ताल शुरू भी कर दी है। दरअसल सुनने में आया है कि जांच एजेंसियां माल्या केस में डेक्कन हेराल्ड एविएशन लिमिटेड के फाउंडर जी आर गोपीनाथ की भूमिका की जांच कर रही है।

गोपीनाथ किंगफिशर एयरलाइंस के डायरेक्टर रहे हैं

सूत्रों के मुताबिक जब ये लोन दिए गए थे उस वक्त गोपीनाथ किंगफिशर के डायरेक्टर थे। यही कारण है कि जांच एजेंसी एसबीआई से डेक्कन एविएशन को मंजूर किए गए 340 करोड़ रुपए के लोन के संबंध में गोपीनाथ की जांच कर रही हैं।

गोपीनाथ को किंगफिशर से मिले थे 30 करोड़ रुपए

बता दें कि जांच में चौंका देने वाली बात सामने आई है। दरअसल इस जांच के मुताबिक गोपीनाथ ने डायवर्जन के इंस्ट्रूमेंट्स पर दस्तखत किए थे। वह डेक्कन एविएशन लिमिटेड के ऑथराइज्ड सिग्नेटरी थे। बताया गया है कि किंगफिशर एयरलाइंस ने फरवरी में गोपीनाथ को 30 करोड़ रुपए दिए थे। फिलहाल इस पेमेंट की भी जांच की जा रही है।

बिना स्टेकहोल्डर्स या हाईकोर्ट को जानकारी दिए मिले गोपीनाथ को रुपए

आपको बता दें कि सीरीयस फ्रॉड इनवेस्टिगेशन ऑफिस ने 2017 की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्टेकहोल्डर्स या हाईकोर्ट को जनकारी दिए बगैर नॉन कंपनीट फीस के रुप में गोपीनाथ को 30 करोड़ रुपए दिए थे, ये नियमों के बिलकुल खिलाफ था। मालूम हो कि इस मामले में एजेंसियों का मानना है कि माल्या के खिलाफ दी गई दलीलें गोपीनाथ के खिलाफ लागू होती हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.