ED का दावा, सैमसंग से दलाली में मिली रकम से ही खरीदा गया था रॉबर्ट वाड्रा का लंदन वाला घर

0 21

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा के ऊपर इन दिनों संकट के बादल छाए हुए हैं। जी हां, दरअसल रॉबर्ट वाड्रा पर प्रवर्तन निदेशालय यानि ED का शिकंजा कसता जा रहा है। दरअसल ED ने राबर्ट वाड्रा की लंदन स्थित बेनामी संपत्ति को खरीदने के लिए जुटाए गए धन का पता लगाने का दावा किया है।

ED के सूत्रों के अनुसार, रॉबर्ट वाड्रा का लंदन में 12-ब्रायंस्टन स्क्वायर वाला घर सैमसंग इंजीनियरिंग से मिली दलाली की रकम से खरीदा गया था।

क्यों मिली थी दलाली

ED के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, गुजरात

में ओएनजीसी का एसईजेड यानि SEZ बनाने के लिए सैमसंग इंजीनियरिंग को दिसंबर 2018 में ठेका मिला था। इसकी बदले में सैमसंग ने हथियार दलाल संजय भंडारी की कंपनी को 13 जून 2009 को 49.9 लाख डॉलर दिए थे।

मालूम हो कि तब की विनिमय दर के हिसाब से यह 23.50 करोड़ रुपए की रकम बनती थी। इसमें से संजय भंडारी ने 19 लाख पाउंड वोर्टेक्स नाम की कंपनी में ट्रांसफर किए थे। तब की विनिमय दर के हिसाब से यह रकम 15 करोड़ रुपए बनती थी। दरअसल ED का दावा है कि इसी रकम से लंदन के 12 ब्रायंस्टन स्क्वायर वाली प्रॉपर्टी खरीदी गई है।

वाड्रा ने दी थी घर के मरम्मत की इजाजत

दरअसल ED ने दावा किया है कि वर्ष 2010 में भंडारी के रिश्तेदार सुमित चड्ढ़ा ने एक ई-मेल का जरिए रॉबर्ट वाड्रा से इस प्रॉपर्टी की मरम्मत करने की इजाजत मांगी थी। इस पर वाड्रा ने मनोज अरोड़ा नाम के शख्स से पैसे का इंतजाम करने को कहा था। ED के अनुसार इस संपत्ति की मरम्मत में करीब 45 लाख रुपए का खर्च आया था।

ED लगी है सबूत एकत्र करने में

ED के वरिष्ठ अधिकारी की माने तो रॉबर्ट वाड्रा के लिए खरीदी गई संपत्ति के लिए धन एकत्र करने की पूरी चेन की जानकारी मिल गई है। अब इसके लिए सुबूत जुटाए जा रहे हैं। इसके लिए संजय भंडारी को सैमसंग इंजीनियरिंग से मिले भुगतान की दोबारा से जांच की जाएगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.