Loading...

बड़ा ही अनोखा है ये मंदिर, यहां 83 साल से लाल मिर्ची किया जा रहा है अभिषेक, जानिए इसकी वजह

0 32

दुनिया में कई अजीबो गरीब परंपराएं सुनने को मिलती हैं जिसे सुनकर हम हैरान हो जाते हैं। भारत देश में अनोखी परंपराओं की कमी नही है। इसी प्रकार भारत में ऐसे मंदिरों की भी कमी नही है जहां अनोखी परंपराएं होती हों। ऐसा ही एक मंदिर भारत के दक्षिण में है। दरअसल यहां स्थित एक ऐसा मंदिर भी है जहां रोगों से दूर रहने के लिए मिर्ची से अभिषेक किया जाता है।

जी हां, दरअसल वर्ना मुथु मरियम्मन मंदिर तमिलनाडु के वेलुप्पुरम के पास एक गांव इद्यांचवाडी में स्थित है। यहां हर साल 8 दिनों तक ऐसा त्योहार मनाया जाता है जिसमें मिर्ची का अभिषेक होता है। ये लोगों के स्वस्थ रहने की कामना के लिए किया जाता है।

दरअसल मंदिर की परंपरा के अनुसार यहां के तीन सबसे वरिष्ठ लोग पहले अपने हाथ में कंगन धारण करते हैं और फिर दिनभर उपवास रखते हैं। इसके बाद उनका मुंडन संस्कार होता है। फिर पुजारी उन्हें देवताओं की तरह पूजा स्थान पर बैठाकर उनकी पूजा करता है।

Loading...

इसके बाद उनका विभिन्न सामग्रियों से अभिषेक किया जाता है। इसमें चंदन, कुचले हुए फूल आदि शामिल होते हैं। इसके बाद मिर्ची का अभिषेक होता है । इसमें मिर्च के लेप से स्नान कराया जाता है। और मिर्च का लेप खिलाया भी जाता है।

इसके पश्चात उन्हें नीम के जल से स्नान कराकर मंदिर के अंदर ले जाया जाता है। फिर यहां एक और परंपरा होती है। जी हां, मंदिर में आने के पश्चात यहां उन्हें जलते हुए अंगारों पर चलना होता है।

दरअसल बताया जाता है कि यह परंपरा करीब 85 सालों से निभायी जा रही है। माना जाता है कि हरिश्रीनिवासन को 1930 में स्वयं भगवान ने दर्शन देकर यहां के लोगों को रोगों से दूर रखने के लिए इस परंपरा को निभाने का आदेश दिया था। तब से यह परंपरा निभायी जा रही है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.