Loading...

इस बॉलीवुड हसीना को यूजर ने सोशल मीडिया पर कहा बूढ़ी, एक्ट्रेस ने दिया ये करारा जवाब

0 10

बॉलीवुड एक्ट्रेस लीजा रे को आप लोगों ने कई सारी फिल्मों में देखा होगा। फिल्म कसूर से वह बड़े पर्दे पर सबसे ज्यादा हिट हो गई थीं। उनकी जिंदगी बेहद ही उतार-चढ़ाव वाली रही है। कैंसर को मात देकर लीजा रे एक नई जिंदगी हासिल की है। इतनी उम्र में भी लीजा रे बेहद खूबसूरत हैं। सोशल मीडिया पर लीजा को हाल ही में एक यूजर ने नो ओल्ड यानि बूढ़ी कहकर निशाने पर लेने की कोशिश की हैं। लेकिन उस यूजर को उन्होंने करारा जवाब दिया है।

आपको बता दें कि लीजा रे ने उस यूजर को एक ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘मै बूढ़ी हूँ। समय से अधिक बूढ़ी, मेरे बच्चे। शायद, आप अपने दिमाग में कभी नहीं बढ़ेंगे, लेकिन आपका शरीर होगा और यह बुद्धिमान होने का आशीर्वाद है, एक कैंसर से मुश्किस जंग लड़ने के बाद मैं 46 की उम्र में बेहद शानदार जीवन जी रही हूं। मेरी आत्मा और शरीर में सुरक्षित रूप से सुरक्षित और खुश हैं। आशा है कि आप एक दिन अनुभव कर सकेंगे।’

लीजा रे की बातों से ये साफ हो गया है कि यूजर को उन्होंने करारा जवाब दिया है। लेकिन यूजर ने बाद में लीजा से माफी मांगी है। कैंसर से जिंदगी की जंग जीतने वाली एक्ट्रेस लीजा रे ने सरोगेसी से जुड़वा बच्चों को जन्म दिया है। लीजा को 2 बेटियां हुई हैं। वो अपनी बेटियों के जन्म से बेहद खुश हैं। लीजा ने अपनी बेटियों का नाम ‘सोलेल’ और ‘सूफी’ रखा है। बेटियों के जन्म के बाद लीजा ने एक इंटरव्यू में कहा था ‘अपनी लाइफ में मैंने बहुत कुछ देखा है।’

Loading...

एक इंटरव्यू में लीजा ने कहा था कि ‘मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकती कि मैं कितनी खुश हूं। बेटियों का ध्यान रखने के अलावा मुझे और कई चीजों को देखना पड़ रहा है। मेरे जीवन में कई उतार-चढ़ाव आए हैं लेकिन अब मेरी जिंदगी में बदलाव आ गया है। फिलहाल मैं इस बदलाव का भरपूर मजा ले रही हूं। मैं अपनी बेटियों को मुंबई में अपने घर लाना चाहती हूं।’

उन्होंने आगे कहा कि ‘मेरी जिंदगी में बहुत सारी चीजें अव्यवस्थित रहीं। जेसन हेडली से शादी के बाद मैंने मां बनने का बड़ा फैसला लिया। मैंने अपनी बेटियों के नाम सूफी और सोलेल रखा है। मेरी बेटियों का जन्म सरोगेसी के जरिए जॉर्जिया में इसी साल जून में हुआ। मैं अपनी बेटियों को खुली सोच वाली इंसान बनाने की कोशिश करूंगी। नई पीढ़ी को अच्छा इंसान बनाना ही बेहतर भविष्य है। मैं अपनी बेटियों को बताऊंगी कि भविष्य महिलाओं का है।’

जानकारी दे दें कि साल 2009 में लीजा रे को मल्टीपल माइलोमा नाम का कैंसर हो गया था। इसके बाद 2010 में स्टेम सेल ट्रांसप्लांट करवाकर लीजा ने इस बीमारी से जंग जीत ली थी। लीजा का इलाज आज भी चल रहा है। लंबे समय तक दवाइयों को लेने के लीजा ने कभी कंसीव नहीं किया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.