Loading...

इस प्रदेश में 1 मार्च से बेरोजगार युवाओं को 3000 रुपए और युवतियों को मिलेंगे 3500 रुपए महीने

0 17

किसानों के अलावा अगर इस समय देश में वर्तमान समय में कोई सबसे बड़ी समस्या है तो वो है बेरोजगारी की। यही वजह है कि आगामी लोकसभा चुनावों में भी सबसे बड़ा मुद्दो रोजगार का ही होने वाला है।

ऐसे में अपने चुनावी घोषणा पत्र में किए गए वादे को पूरा करने की जुगाड़ में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बड़ा कदम उठाया है। जी हां, दरअसल अशोक गहलोत ने यह जानकारी दी है कि आगामी 1 मार्च से प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को 3000 और बेरोजगार युवतियों को 3500 रुपये का बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा।

मालूम हो कि राजस्थान चुनावों से पहले कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में हर महीने 3500 रुपये बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था। हालांकि राजस्थान में पहले से ही एक स्कीम अक्षत योजना के नाम से चल रही है, जिसके मुताबिक 21 से 35 साल के 50 हजार शिक्षित बेरोजगार युवाओं को 2 साल तक भत्ता दिया जाता है।

बता दें कि श्रम विभाग के कुछ जानकारों के मुताबिक ‘गहलोत सरकार को पंजीकृत बेरोजगार युवाओं को सहायता देने के लिए हर साल 210 करोड़ रुपये की आवश्यकता पड़ेगी। ऊपर से राज्य सरकार पर 3 लाख करोड़ रुपये का कर्ज पहले से ही बकाया है।’

Loading...

बेरोजगारी की व्रद्धि से बिगड़ेगी स्थति

बता दें कि राजस्थान राज्य में बेरोजगारी तेजी से बढ़ रही है। इस वजह से स्थिति के और बिगड़ने की संभावना है। एक आंकड़े के मुताबिक जहां नवंबर 2019 तक, राष्ट्रीय बेरोजगारी औसत 6.62 % था वहीं इसके सामने राजस्थान में बेरोजगारी दर 12.3 % है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.