Loading...

अब केदारनाथ मंदिर की तरह दिखेगा ऋषिकेश रेलवे स्टेशन, अप्रेल-मई तक हो जाएगा तैयार

0 15

आप या आपका कोई दोस्त रिश्तेदार ऋषिकेश में रहता है तो ये खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए। जी हां, दरअसल अब ऋषिकेश रेलवे स्टेशन केदारनाथ मंदिर की प्रतिकृति के रूप में नजर आएगा।

दरअसल भारतीय रेलवे की चर्चित ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के अंतर्गत ऐसा किया जा रहा है। बता दें कि इस परियोजना के तहत अन्य रेलवे स्टेशनों का डिजाइन भी उत्तराखंड के मंदिरों व पारंपरिक भवनों की पर आधारित होगा।

हालांकि, अभी सिर्फ ऋषिकेश रेलवे स्टेशन को ही डिजाइन किया गया है। माना जा रहा है कि इसी वर्ष अप्रैल-मई में इस स्टेशन का निर्माण पूरा हो जाएगा।

मुख्य प्रवेश द्वार केदारनाथ मंदिर की तरह नजर आएगा

Loading...

बताया जा रहा है कि न्यू ऋषिकेश रेलवे स्टेशन का मुख्य प्रवेश द्वार बिलकुल केदारनाथ मंदिर की तरह ही डिज़ाइन किया जाएगा। बता दें कि ऐसी उम्मीद की जा रही है कि इसी वर्ष मार्च-अप्रैल में यह स्टेशन बनकर तैयार हो जाएगा।

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना की लागत है 16216.31 करोड़ रुपए

बताया गया है कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना 16216.31 करोड़ रुपए की लागत से तैयार हो रही है। इस परियोजना में ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक 126 किमी लंबी रेल लाइन बिछाई जानी है।

इसकी खास बात ये होगी कि इस रेल लाइन का सिर्फ 21 किमी हिस्सा ही जमीन पर होगा बाकि 105 किमी रेल लाइन भूमिगत यानी

सुरंगों से होकर गुजरेगी।

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना को 2024 तक पूरा करने का है लक्ष्य

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना को 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। मालूम हो कि इस परियोजना पर 18 सुरंगें बननी हैं जिनकी लंबाई करीब 205 किमी होगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.