Loading...

इस नौकरी के लिए नहीं है किसी डिग्री की जरूरत, हफ्ते में केवल 4 दिन काम और सैलरी करोड़ों में

0 14

हर किसी का सपना होता है कि उसकी नौकरी बढ़िया लगे और वो खूब पैसा कमाए। ज़्यादा पैसे के लिए अच्छी खासी क्वालिफिकेशन की आवश्यकता पड़ती है लेकिन हर किसी के पास ये नहीं होता तो ऐसे में लोगों के सपने सिर्फ सपने बनकर ही रह जाते हैं।

लेकिन आज हम आपको एक ऐसी नौकरी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें न तो किसी डिग्री की जरूरत है और न ही किसी खास क्वालिफिकेशन की।

सबसे खास बात ये कि इसमें हफ्ते में सिर्फ 4 दिन की काम करना होता है और इसके बदले लोगों को करीब डेढ़ करोड़ रुपये का सालाना पैकेज दिया जाता है। लेकिन इसके बावजूद ये नौकरी कोई नहीं करना चाहता। लेकिन ऐसा क्यों? चलिए जानते हैं।

Loading...

दरअसल, ये नौकरी न्यूजीलैंड में है और इसमें आपको एयर ट्रैफिक कंट्रोल की नौकरी करनी होगी। बता दें कि इसके लिए कंपनी करोड़ों का पैकेज दे रही है। इसमें आपका काम है फ्लाइट्स के ट्रैफिक कंट्रोल का। जैसे कि कौन सी फ्लाइट कब जाएगी, कौन सी कब आएगी, कौन सी फ्लाइट किस रनवे पर उतरेगी।

मालूम हो कि कंपनी इस काम के लिए कैंडिडेट से कोई भी क्वालिफिकेशन नहीं मांग रही है। कंपनी की बस इतनी शर्त है कि काम करने वाले शख्स की उम्र 20 साल से ज्यादा हो।

दरअसल कंपनी का कहना है कि हमारे यहां हमेशा काम करने वालों की कमी बनी रहती है और ऐसा इसलिए है, क्योंकि लोगों को लगता है कि ये काम बहुत ही खतरनाक और रिस्की है। दरअसल एयर ट्रैफिक कंट्रोलर की थोड़ी सी भी गड़बड़ी कई लोगों की जान भी ले सकती है। इसलिए इस काम में रिस्क बहुत है।

इस संबंध में न्यूजीलैंड के एयर-वे ट्रैफिक मैनेजर ने बताया कि इस नौकरी के लिए हम ये देखते हैं कि सबसे पहले तो अप्लाई करने वाला उम्मीदवार 20 साल से ऊपर का हो। इसके लिए किसी तरह की डिग्री नहीं मांगी जाती है। बस उसका फिटनेस देखने के बाद कंपनी की ओर से एक ट्रेनिंग दी जाती है उसके बाद किसी को ये नौकरी दी जाती है।

ट्रैफिक मैनेजर ने बताया कि उम्मीदवार की करीब 12 महीने की एक ट्रेनिंग होती है। इसमें उसको कुछ लॉजीकल सीक्वेंस दिखाए जाते हैं जो एक पहेली की तरह होते हैं। इसी के आधार पर उम्मीदवार का चयन किया जाता है।

मैनेजर के मुताबिक लॉजीकल सीक्वेंस बेहद कठिन होते हैं इसलिए हर कोई इनका जवाब नहीं दे पाता। उन्होंने बताया कि करीब 300 उम्मीदवारों में से औसतन 1 ही पहेलियों को सुलझा पाता है जिसके बाद उसे नौकरी मिलती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.