Loading...

केजरीवाल सरकार ने किया ऐलान, अब मस्जिदों के इमामों को हर महीने मिलेगी 18 हजार रुपए सैलरी

0 11

कभी अलग राजनीती करने के दावे से सत्ता में आई दिल्ली की केजरीवाल सरकार अब राजीनीति के दांव पेंच में निपुण होती जा रही है। जी हां, दरअसल खबर है कि अब केजरीवाल सरकार दिल्ली में मस्जिदों के इमामों को प्रति माह 18 हजार रुपए सैलरी देगी।

इस संबंध में दिल्ली वक्फ बोर्ड के चेयरमैन अमानतुल्लाह खान ने सीएम अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में इसका ऐलान किया। खान ने बताया कि मस्जिदों के मौलाना की सैलरी में इज़ाफ़ा किया गया है। अब उनकी सैलरी को 10 हजार से बढ़ाकर 18 हजार और मुअज्जिन की सैलरी 9 हजार से बढ़ाकर 16 हजार कर देने का फैसला लिया गया है।

फरवरी से लागू हो जाएगा नियम

अमानतुल्लाह के मुताबिक सभी को फरवरी से बढ़ी हुई सैलरी मिलने लगेगी। बता दें कि दिल्ली में 300 ऐसी मस्जिद हैं जहां वक्फ बोर्ड की तरफ से इमामों को सैलरी दी जाती है। मालूम हो कि इसके अलावा दिल्ली में 1500 मस्जिद ऐसी भी हैं जहां वक्फ बोर्ड का नियंत्रण नही है।

Loading...

हालांकि बोर्ड ने फैसला लिया है कि इन मस्जिदों के इमामों को अब 14 हजार रुपए सैलरी दी जाएगी और मोअज्जिन को 12 हजार रुपए मिलेंगे।

14 हजार रुपए हुई न्यूनतम सैलरी

इस फैसले पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वो बोर्ड के फैसले के साथ हैं और उनकी सरकार वक्फ बोर्ड की बेहतरी के लिए सभी प्रकार की मदद के लिए तैयार है। बता दें कि वक्फ बोर्ड चेयरमैन के मुताबिक अब दिल्ली में न्यूनतम सैलरी भी बढ़कर 14 हजार रुपए हो गई है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.