Loading...

अब किसानों की होगी बेकार पड़ी एक एकड़ जमीन से 80 हजार रुपए की कमाई, सरकार ला रही है ये योजना

0 23

अगर आप किसान हैं या आपका कोई जानकार किसान है और उसकी जमीन बंजर है और वो परेशान हैं तो हम आपके लिए एक ऐसी खबर लेकर आएं हैं जिससे इस परेशानी का समाधान हो सकता है।

दरअसल सरकार सोलर बिजली के लक्ष्य को हासिल करने के लिए किसानों की बंजर या बेकार पड़ी जमीन का इस्तेमाल करने की योजना बना रही है। सरकार इसे सोलर फार्मिंग का नाम दे रही है।

बता दें कि सोलर प्लांट के लिए एक एकड़ जमीन देने पर किसानों को घर बैठे सालाना लगभग 80 हज़ार रुपए मिलेंगे। इसके लिए ऊर्जा मंत्रालय किसान ऊर्जा सशक्तिकरण मिशन यानि कि कुसुम लांच करने की योजना बना रहा है।

80 हज़ार की कमाई कैसे होगी

Loading...

नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय यानि कि एमएनआरई के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक 1 मेगावाट क्षमता के सोलर प्लांट लगाने में 5 एकड़ जमीन की जरूरत होती है। उनके अनुसार 1 मेगावाट सोलर प्लांट से साल भर में लगभग 11 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन होता है।

उन्होंने बताया कि कुसुम स्कीम के अनुसार जो भी डेवलपर्स किसान की जमीन पर सोलर प्लांट लगाएगा वह किसान को प्रति यूनिट 30 पैसे का किराया देगा। ऐसे में, किसान को प्रतिमाह 6600 रुपए मिलेंगे। इसका मतलब ये हुआ की साल भर में यह कमाई लगभग 80 हज़ार रुपए की होगी। जमीन पर मालिकाना हक भी किसान का ही रहेगा।

बिजली वितरण कंपनियों को खरीद पर सब्सिडी

सोलर प्लांट से उत्पन्न बिजली को खरीदने के लिए सरकार बिजली वितरण कंपनियों यानि कि डिस्कॉम को सब्सिडी देगी। डिस्कॉम को प्रति यूनिट 50 पैसे की सब्सिडी दी जाएगी।

खेती भी कर सकते हैं

मंत्रालय के अधिकारियों ने ये भी साफ़ किया कि किसान चाहे तो खेत में शेड लगाकर शेड के नीचे सब्जी या अन्य उत्पादों की खेती कर सकता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.