Loading...

बड़ा ही अनोखा है ये गांव यहां घरों की नहीं होती है दूसरी मंजिल, वजह जानकर रह जाओगे हैरान

0 246

हम सब जानते हैं कि भारत देश में कई ऐसी जगह हैं जो किसी न किसी कारणवश भुतहा या डरावनी मानी जाती हैं। लोग अभी भी कई ऐसी जगहों पर जाने से डरते हैं। आज हम आपको भारत के एक ऐसे ही गांव के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप शायद वहां कभी न जाएं।

जी हां, दरअसल यह गांव राजस्थान के चूरू में स्थित है। इससे एक बेहद ही दिलचस्प और अनोखी कहानी जुड़ी हुई है। बता दें कि इस कहानी का असर आज भी इस गांव में देखने को मिलता है।

दरअसल ये राजस्थान के चूरू में स्थित उडसर गांव है जहां पर जब आप जाएंगे तो आप एक चीज़ नहीं देखेंगे, और वो है घर पर बनी दूसरी मंजिल। जी हां, यहां पर आपको किसी भी घर में दो मंज़िल नहीं मिलेगी। बता दें कि ये बिल्कुल सच है और पिछले 700 साल से इस गांव के एक भी घर में दो मंज़िल नहीं है।

बता दें कि ऐसा होने के पीछे एक बड़ी वजह है। दरअसल इस गांव के लोग इसे एक श्राप का नतीजा मानते हैं और उनके मुताबिक इसी वजह से यहां किसी भी घर में दो मंज़िल नहीं होती है।

Loading...

दरअसल पूरी कहानी ये है कि गांव वालों के मुताबिक 700 साल पहले इस गांव में भोमिया नाम का एक शख्स रहता था। एक बार यहां पर चोर घुस आए और उन्होंने गांव के पशुओं को चुराना शुरू कर दिया इस बात से गुस्साकर भोमिया नाम का ये शख्स चोरों से भीड़ गया।

इसके बाद चोरों ने भोमिया को खूब मारा पीटा जिससे वो जख्मी होकर भागते भागते अपने ससुराल पंहुच गया और वहां की दूसरी मंजिल पर जा कर छिप गया। फिर जब चोरों ने घर वालों को मारना पीटना शुरू किया तब उन्होंने भोमिया के बारे में बता दिया।

बताया गया कि इसके बाद चोरों ने उसका सिर धड़ से अलग कर दिया, लेकिन भोमिया अपना सिर हाथ में लिए हुए उनसे लड़ता रहा और लड़ते-लड़ते अपने गांव की सीमा के पास पहुंच गया। यहां पर उसकी मौत हो गयी और उसका धड़ उडसर गांव में आ गिरा।

प्प्राप्त जानकारी के मुताबिक इसके बाद भोमिया की पत्नी ने गांव में श्राप दिया कि आज से घर पर कोई दूसरी मंजिल नही बनाएगा और इसके बाद वो सती हो गईं। तो यही कारण है कि उस दिन से आजतक इस गांव के घरों में दूसरी मंज़िल नहीं होती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.