Loading...

आपके सारे राज खोल देता है हाथ का अंगूठा, जाने अपने बारे में

0 35

आप सभी लोगों ने हस्तरेखा शास्त्र के बारे में तो सुना ही होगा। बता दें कि अंगूठे को हस्तरेखा शास्त्र में अत्यधिक महत्व दिया गया है। अंगूठा तीन अस्थि खंडों से मिलकर बना होता है। हथेली से बाहर निकलकर हुआ पहला खंड तर्क शक्ति को, दूसरा खंड दृढ़ इच्छा शक्ति को, तीसरा एवं आखिरी खंड विशुद्ध चरित्र को बताता है।

आपको बता दें कि अंगूठा अगर छोटा होता है तो यह अविकसित व्यक्तित्व को बताता है। वही अंगूठा के लंबा होना, मतलब जीवन कार्यों में वृद्धि का अधिक उपयोग करने का घातक होता है। अंगूठा अगर काफी ज्यादा छोटा होता हैं तो इसे अशुभ समझा जाता है। और माना जाता है जो लोग अपराधी प्रवृत्ति वाले होते हैं उनका अंगूठा काफी छोटा ही होता है। जिन लोगों का अंगूठा बड़ी आसानी के साथ पीछे की तरफ मुड़ जाता है या फिर बिल्कुल लचीला होता है तो ऐसे अंगूठे का मतलब सफलता के संकेत से है।

वही जिन लोगों के लंबे अंगूठे के साथ-साथ उनकी उंगलियां वर्गाकार या फिर फैली हुई होती हैं। यह लोग अच्छे गणित के प्रोफेसर, वैज्ञानिक, शिल्पकार या फिर इंजीनियर होते हैं। अगर उंगलियों के सिरे के कोनिक या फिर नुकीले हो तो ऐसे व्यक्ति काव्य तथा कला के बहुत बड़े दीवाने होते हैं। वहीं अगर किसी के अंगूठा की कलाकृति केले के समान होती है तो वो अंगूठा अविकसित होता है और जिन लोगों का ऐसा अंगूठा होता है। उन लोगों का स्वभाव क्रूर एवं विद्रोही होता है।

Loading...

जिन लोगों का अंगूठा गेंद के समान सिरे वाला होता है तथा उनके नाखून संकरे हुआ करते हैं तो इस तरह के अंगूठा वाले व्यक्ति अपराधी प्रवृत्ति वाले ही होते हैं। यह लोग स्वार्थी, कामुक, अस्थिर मन वाले, हृदयहीन एवं व्यभिचारी होते हैं। इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि महिलाओं का अंगूठा अगर लंबा होता है तो उस महिला में संस्कारी गुण भरपूर होते हैं।ल यानी कि वह महिला संस्कारी गुणों से भरपूर एक सफल महिला होती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.