Loading...

फर्स्ट डेट पर संबंध बनाना अच्छा है, जानें आखिर क्यों

0 27

रिलेशनशिप को लेकर आपने अब तक कई तरीके की बाते सुनी होंगी। आपने सुना होगा या आपको ये सलाह दी गई होगी कि जब आप अपनी पहली डेट पर जाएं तो आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

Do’s and Don’t नियमो को भी आपने फॉलो किया होगा जो अक्सर लोग अपनी पहली डेट से पहले एक बार जरूर पढ़ते हैं। इन नियमो में भी आपने ये जरूर पढ़ा होगा या आपको किसी बड़े ने ये सलाह जरूर दी होगी कि पहली डेट पर सेक्स करना ठीक नहीं है।

ऐसा कहने के पीछे का कारण ये बताया जाता है कि ऐसा करने से आप जिस व्यक्ति के संग डेट पर हैं उसके संग सीरियस रिलेशनशिप बनाने का मौका आप गंवा देते हैं।

लेकिन आपको शायद ये जानकार हैरानी हो कि हाल ही में हुई एक नई स्टडी में बताया गया है कि अगर आप पहली डेट पर ही सामने वाले व्यक्ति के संग बहुत करीब आ जातें हैं तो इससे आपका नुकसान नहीं बल्कि फायदा ही होता है। जी हां, ऐसा करने से आपको अपने भविष्य में होने वाले मजबूत रिश्ते को खोजने में मदद मिलती है।

Loading...

आकर्षण में छिपी होती हैं यौन इच्छाएं

बता दें कि इजरायल में स्थापित इंटरडिस्प्लिनरी सेंटर यानि की IDC हर्ज्लिया और यूनिवर्सिटी ऑफ रोचेस्टर्स डिपार्टमेंट ऑफ क्लिनिकल ऐंड सोशल साइंसेज इन साइकॉलजी स्थित मनोवैज्ञानिकों की एक टीम ने यह स्टडी की है जिसके बारे में हम आपसे आज बात कर रहे हैं।

दरअसल इस स्टडी से सामने आया है कि आपके होने वाले पार्टनर की तरफ आकर्षित होने में आपकी यौन इच्छाएं एक बेहद ही अहम किरदार निभाती हैं। इस स्टडी के मुताबिक यौन इच्छाएं दो लोगों के बीच एक अद्धभुत से अटैचमेंट को बनाने का कार्य भी करती हैं।

ब्रेन का एक ही हिस्सा रहता है लव और सेक्स के समय सक्रिय

दरअसल इस स्टडी में एक टेस्ट भी किया गया और इस टेस्ट में महिलाओं और पुरुषों को अलग-अलग ग्रुप्स में रखा गया था जहां एक दूसरे के प्रति उनके व्यवहार की जांच की गई।

इस टेस्ट के बाद वैज्ञानिकों ने ये पाया कि यौन इच्छाएं दो लोगों के बीच इमोशनली जोड़ने का काम करती हैं। रिसर्च करने वाले एक्सपर्ट्स के मुताबिक उन बच्चों का सर्वाइवल चांस बढ़ जाता है जिनके माता-पिता के बीच बॉन्डिंग बेहतर होती है।

मालूम हो कि इससे पहले भी ऐसे विषयों में हुई कई रिसर्च में भी एक कॉमन बात सामने आई है और वो ये है कि कोई व्यक्ति जब प्यार का अनुभव करता है और जब कभी वो सेक्शुअल डिजायर का अनुभव करता है तो दोनों ही परिस्थितियों के उस व्यक्ति के ब्रेन का एक ही क्षेत्र ऐक्टिवेट होता है, यानि कि लव और सेक्स दोनों ही अवस्था में ब्रेन का एक ही पार्ट एक्टिव होता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.