Loading...

भारतीय रेलवे ने इसरो के उपग्रह से जोड़े अपने इंजन, अब आपको मिलेगी ट्रेनों की स्टिक जानकारी

0 4

अगर आप भी रेल में सफर करते हैं तो भारतीय रेलवे आपके लिए एक बेहद ही ख़ास एवं अच्छी खबर लाया है। जी हां, अब आपको ट्रेन की सही स्थिति की जानकारी आसानी से मिल जाएगी और ये जानकारी बेहद ही सटीक होगी।

दरअसल, अब रेल की पोज़िशन की जानकारी सेटेलाइट के द्वारा उपलब्ध करावाई जाएगी। जी हां, अब रेलवे ने अपने इंजन को इसरो के उपग्रह से जोड़ दिया है जिससे उपग्रहों से मिली जानकारी से ट्रेन के बारे में पता लगाना और आसान हो गया है।

इस संबंध में रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ” चूंकि ये नया साल है इसलिए इस नए साल में एक नई शुरुआत की गई है। ट्रेन के आवागमन की सूचना प्राप्त करने और कंट्रोल चार्ट में दर्ज करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानि की इसरो के उपग्रह आधारित रियल टाइम ट्रेन इन्फोरमेशन सिस्टम यानि कि आरटीआईएस से स्वत: उपयोग किया जाने लगा है।”

रेलवे का नेटवर्क होगा और भी आधुनिक

Loading...

अधिकारी ने बताया कि नई प्रणाली से रेलवे को अपने नेटवर्क में ट्रेनों के संचालन के लिए अपने कंट्रोल रूप, रेलवे नेटवर्क को आधुनिक बनाने में मदद मिलेगी और इसका सीधा फायदा मुसाफिरों को होगा।

अधिकारी के अनुसार यह प्रणाली 8 जनवरी को वैष्णो देवी-कटरा बांद्रा टर्मिनस, नई दिल्ली-पटना, नई दिल्ली-अमृतसर और दिल्ली-जम्मू रूट पर कुछ मेल या एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए अमल में लाई गई है।

अधिकारी ने बताया कि इंजन में आरटीआईएस युक्ति की मदद से इसरो द्वारा विकसित गगन जियो पोजीशनिंग सिस्टम का इस्तेमाल करके ट्रेनों की चाल और पोजीशन के बारे में पता लगाया जाता है।

ऑटोमैटिकली अपडेट होगी ट्रेन की स्थति

अधिकारी के मुताबिक, प्रोसेसिंग के बाद इस सूचना को कंट्रोल ऑफिस एप्लीकेशन यानि कि सीओए सिस्टम को भेजा जाता है जिससे कंट्रोल चार्ट अपने आप अपडेट हो जाता है।

यहां आपको बता दें कि अभी तक ट्रेन के परिचालन की स्थिति की जानकारी मैनुअली अपडेट की जाती थी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.