Loading...

अमेरिका-ईरान के बीच की लड़ाई में मोदी सरकार ने चला ऐसा दांव कि भारत को हो गया अरबों का फायदा

0 29

जैसा कि आप सब जानते हैं कि अमेरिका और ईरान के बीच जबरदस्त लड़ाई चल रही है। लेकिन इससे भारत की कमाई हो रही है। जहां भारत ईरान से सब्सिडी पर कच्चा तेल खरीद रहा है। वहीं उसकी कीमत के बदले बड़े स्तर पर सोयामील का निर्यात कर रहा है। स्थिति यहां तक पहुंच गई है कि अगर इसी तरह निर्यात जारी रहता है तो भारत से ईरान के लिए सोयाबीन का निर्यात 20 गुना बढ़ सकता है। इससे सरकार के साथ-साथ भारतीय किसानों को भी बड़ा फायदा होगा।

सोयामील के सहारे कमाई करेगा भारत

पिछले साल नवंबर में ईरान पर अमेरिका ने प्रतिबंध लगा दिया, जिसके बाद कई देशों ने उससे कच्चे तेल के आयात को बंद कर दिया या काफी कम कर दिया। हालांकि भारत ने ईरान से कच्चे तेल का आयात जारी रखा है। रॉयटर्स की एक खबर के मुताबिक, बदले हालात में भारत से ईरान के लिए सोयामील यानी सोयाबीन का निर्यात खासा बढ़ सकता है। इससे ईरान के लिए भी अपने जानवरों की खुराक पूरी करना आसान हो गया है।

Loading...

ईरान में नहीं होता सोयामील

अमेरिका के द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के बाद ईरान रुपए के बदले में भारत को कच्चे तेल का निर्यात करने के लिए सहमत हो गया था। तेल के मामले में संपन्न ईरान को इस रुपए को भारतीय गुड्स खरीदने पर खर्च करना होगा। वहीं ईरान प्रोटीन रिच सोयाबीन का घरेलू स्तर पर उत्पादन नहीं करता। सोयामील के भारत से निर्यात होने पर सोयाबीन की कीमत में बढ़ोतरी होगी, जिससे किसानों को फायदा मिलेगा। किसान सरकार से कम कीमतों से राहत देने की मांग कर रहे हैं .बता दें कि मई में आम चुनाव के लिए सरकार को जनता के बीच भी जाना है।

20 गुना हो सकता है निर्यात

इंडस्ट्री बॉडी सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर बी. वी. मेहता के मुताबिक, वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान ईरान के लिए भारत का सोयामील निर्यात बढ़कर 4.50 लाख टन तक पहुंच सकता है। जबकि पिछले साल यह केवल 22,910 ही था। अगर ईरान पर प्रतिबंध जारी रहता है तो अगले वित्त वर्ष में यानी 2019-20 में यह 5 लाख टन तक भी पहुंच सकता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.