Loading...

जान लीजिए बजट के बारे में ये 4 बातें, इनके बारे में सरकार स्वयं दे रही है ब्यौरा

0 13

आने वाली 1 फरवरी 2019 को केंद्र की मोदी सरकार अपना अंतरिम बजट पेश करने जा रही है। लोकसभा चुनावों से पहले ये मोदी सरकार का अंतिम बजट होगा। इसी बात को देखते हुए वित्त मंत्रालय ने बजट से 15 दिन पहले लोगों को जागरूक करने के लिए ‘नो योर बजट’/ Know Your Budget यानि अपने बजट को जानो कैंपेन शुरू किया है। इसके अंतर्गत मंत्रालय बजट से जुड़ी अहम बातें बता रहा है।

चलिए आपको बताते हैं वो 4 अहम बातें।

1. आम बजट क्या होता है

जानकारी के लिए बता दें कि आम बजट सरकार के फाइनेंसे की सबसे ज्यादा व्यापक रिपोर्ट होती है। इसमें सरकार के द्वारा सभी स्रोतों से मिलने वाले राजस्व और सभी गतिविधियों पर व्यय होने वाले बजट का खाका खींचा जाता है।

Loading...

दरअसल बजट में अगले वित्त वर्ष के लिए सरकार के अकाउंट्स का पूरा अनुमान शामिल होता है, जिसे बजट अनुमान भी कहा जाता है।

2. वोट ऑन अकाउंट किसे कहते हैं

दरअसल जब केंद्र सरकार को पूरे साल के बजाय कुछ महीनों के लिए ही संसद से जरूरी खर्च के लिए अनुमति लेनी होती है तो वह अंतरिम बजट नहीं पेश करती है। अंतरिम बजट के बजाय सरकार वोट ऑन अकाउंट यानि Vote on Account पेश करती है।

मालूम हो कि अंतरिम बजट और वोट ऑन अकाउंट दोनों ही कुछ ही महीनों के लिए होते हैं लेकिन दोनों के पेश करने के तरीकों में कुछ अंतर होता है।

बता दें कि जहां अंतरिम बजट में केंद्र सरकार खर्च के अलावा राजस्व का भी ब्योरा पेश करती है वहीं वोट ऑन अकाउंट में सिर्फ खर्च के लिए संसद से मंजूरी मांगी जाती है।

3. रेवेन्यू बजट क्या होता है

रेवेन्यू बजट को राजस्व बजट भी कहते हैं। इसमें सरकार को होने वाली राजस्व प्राप्तियां और उसके व्यय का पूरा ब्योरा होता है। राजस्व प्राप्तियों को कर और गैर कर प्राप्तियों में बांटा जाता है।

जहां कर राजस्व में आयकर, कॉरपोरेट कर और अन्य शुल्क शामिल होते हैं तो वहीं गैर कर राजस्व में स्रोत में कर्ज, निवेश पर लाभांश शामिल होते हैं।

4. कैपिटल बजट किसे कहते हैं

जजानकारी के लिए बता दें कि कैपिटल बजट में पूंजी प्राप्तियां और भुगतान शामिल होते हैं। इसमें केंद्र सरकार द्वारा शेयरों में निवेश, राज्य सरकारों, सरकारी कंपनियों, निगमों और अन्य पक्षों को दिए गए कर्ज और अग्रिम शामिल होते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.