अगर आप भी खाते हैं जली हुई ब्रेड तो हो जाएं सावधान, इस बीमारी की वजह से जा सकती है जान

0 11

बहुत सारे लोगों को नाश्ते में ब्रेड खाना काफी पसंद होता है। कोई चाय के साथ ब्रेड बटर खाना पसंद करता है तो कोई ब्रैड के साथ सैंडविच खाता है। नाश्ते में कुछ लोग इसलिए ब्रेड खाते हैं क्योंकि इससे उनका वक्त भी बचता है, लेकिन जल्दबाजी में बहुत बार ब्रेड हल्की सी ज्यादा भी सिक जाती है तो आप सभी उसे नजरअंदाज कर खा लेते हैं। साथ ही कई लोग तो जली हुई ब्रेड को ही खाना पसंद करते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो फिर सावधान हो जाइए। क्योंकि ये आपकीसेहत पर काफी भारी पड़ सकता है।

एक रिपोर्ट मुताबिक जिन खाद्य पदार्थों में ज्यादा मात्रा में स्टार्च पाया जाता है। उन्हें अगर तेज तापमान पर बनाया जाए तो एक्रिलामाइड नाम का केमिकल उनमें से रिलीज हो जाता है। जिससे हमारी सेहत को काफी नुकसान हो सकता है। साथ ही जानलेवा बीमारी होने का खतरा भी होता है। एक्रिलामाइड केमिकल हमारे शरीर में कैंसर के रिस्क को ज्यादा बढ़ाता है।

एक स्टडी के मुताबिक, स्टार्च युक्त पदार्थ जैसे कि ब्रेड और आलू में अमीनो एसिड पाया जाता है, जिसे एस्पेरेगिन बोला जाता है। इन स्टार्च वाले पदार्थों को हाई टेंपरेचर पर जब गर्म किया जाता है तो एक्रिलामाइड केमिकल इनमें मौजूद एस्पेरेगिन के साथ मिलकर रिलीज होने लगते हैं। जिस कारण इनका सेवन हमारे लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

स्टार्च युक्त पदार्थों को जब आप ज्यादा पकाकर खाते हैं तो उसी के साथ आपकी बॉडी में एक्रिलामाइड केमिकल भी पाया जाता है जो कि सीधा DNA में प्रवेश होता है। हमारी कोशिकाओं को ये बदल देता है साथ ही ये कैंसर की वजह भी बन सकता है। आपको बता दें कि किसी भी खाद्य पदार्थ को ज्यादा देर तक पकाने या फिर काफी हाई टेंपरेचर पर कभा भी नहीं पकाना चाहिए।

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि की WHO के मुताबिक, एक्रिलामाइड के हानिकारक प्रभावों को लेकर अभी तक पूरी डिटेल्स सामने नहीं हैं। लेकिन कैंसर के जोखिम से बचने के लिए स्टार्च वाले खाद्य पदार्थों को कम वक्त के लिए पकाकर खाएं। तो फिर ध्यान में रखिए कि जब अगली बार आप जब भी ब्रेड को गर्म करें तो उस का रंग काला करने के बजाय उसे हल्के भूरा होने तक ही पकाएं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.